खबर (News)

21 साल बड़े इस एक्टर के साथ ऐसा सीन की थीं माधुरी दीक्षित, आज तक हैं पछताती

विनोद खन्ना ने शुरुआत तो विलेन के किरदार से की थी मगर बाद में वो हीरो बन गए। एक समय ऐसा था जब बॉलीवुड में विनोद खन्ना का नाम सुपरस्टार में शुमार था। विनोद का जन्म 6 अक्टूबर 1946 को पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। विनोद खन्ना ने अपने करियर में लगभग 150 फिल्में की। आज उनका जन्मदिन है और इस मौके पर हम उनकी कुछ खास बातें आपको बताने जा रहे हैं। एक खबर के अनुसार फिल्म ‘दयावान’ के दौरान माधुरी दीक्षित के साथ इंटीमेट सीन देते हुए इतने बेकाबू हो गए थे कि 20 साल बड़े विनोद खन्ना ने माधुरी के होठ काट लिए थे। माधुरी और विनोद खन्ना की इस सीन के बाद खूब आलोचना हुई थी। विनोद खन्ना के साथ ऐसे सीन देने पर माधुरी को आज भी पछतावा होता है। इस सीन को करने के लिए माधुरी ने बहुत सोचा जिसके बाद उनके साथ इंटीमेट सीन करने को तैयार हुई थीं।


विनोद खन्ना ने ‘मन का मीत’ फिल्म से अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत की थी उन्होंने इस फिल्म में विलेन का किरदार निभाया। उसके बाद 1971 में फिल्म ‘हम तुम और वो’ में लीड रोल के तौर पर काम किया था। अपने करियर से रिटायरमेंट लेकर विनोद खन्ना संन्यासी बन गए थे। गुलजार द्वारा निर्देशित ‘मेरे अपने’ (1971) से विनोद खन्ना को लोकप्रियता मिली। 1999 में उनको फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा गया था।


यह उस समय की बात है जब विनोद खन्ना ने फिल्मों में अपनी दूसरी पारी की शुरुआत किया था। इस बार उन्होंने एक रोमांटिक रोल करने के बारे में सोचा। फिरोज खान उस समय दयावान नाम की एक फिल्म बना रहे थे। जब विनोद खन्ना लौटे, तो फ़िरोज़ खान ने उन्हें दयावान में लीड रोल ऑफर किया और फ़िरोज़ खान ने अभिनेत्री के लिए माधुरी दीक्षित से संपर्क साधा। माधुरी दीक्षित 21 साल की थीं, जबकि विनोद खन्ना 42 साल के थे। उस समय बॉलीवुड इंडस्ट्री में स्ट्रगल करने वाली माधुरी ने उस समय फिल्म के लिए हां कर दी थी, लेकिन वह इस बात से अनजान थीं कि हीरो उम्र में उनसे काफी बड़ा है। बहरहाल, फिल्म की शूटिंग शुरू हुई।


माधुरी को यह जरा भी अंदाजा नहीं था कि इस फिल्म में वह कुछ ऐसा होगा जिसे वह जिंदगी भर भुला नहीं सकेंगी। फिल्म में माधुरी और विनोद के कुछ अंतरंग और लिपलॉक सीन थे। सभी को लग रहा था कि शायद माधुरी इस सीन के लिए मना कर देंगी परंतु बॉलीवुड की दुनिया में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए माधुरी ने सभी को गलत साबित किया और विनोद के साथ इस तरह का सीन दिया।


जब फिल्म रिलीज़ हुई, तो लोगों के बीच उस सीन को लेकर काफी चर्चा होने लगी। उस समय इस तरह के दृश्य फिल्माना बहुत बड़ी बात थी। बाद में, एक साक्षात्कार के दौरान, माधुरी ने कहा था कि उन्होंने दयावान फिल्म में जो कुछ भी किया था, उसका पछतावा उन्हें आज भी है। मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था। वैसे इस फिल्म के बाद माधुरी ने अपने करियर में कभी भी इतना बोल्ड सीन नहीं किया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top