Breaking News
Home / खबर / आतंकियों से लोहा लेते हुए 26 की उम्र में देश के लिए शहीद हुए करणवीर सिंह , 24 घंटे पहले पिता से हुई थी बात

आतंकियों से लोहा लेते हुए 26 की उम्र में देश के लिए शहीद हुए करणवीर सिंह , 24 घंटे पहले पिता से हुई थी बात

देश के लिए कितने ही शहीदों ने अपनी जान की बाजी लगा दी.लेकिन एक बार भी आपने तत से ना हटे ऐसे ही हमारे भारतीय सेना के जवान हैं जिन्होंने हंसते-हंसते अपने प्राणों की आहुति दे दी सिर्फ अपने भारत माता को सुरक्षित करने के लिए.दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए जम्मू-कश्मीर के शोपियां में भारतीय सेना के जवानों और पाकिस्तानी आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तानी आतंकवादियों का बहुत ही ज्यादा वीरता से मुकाबला किया. उन्हें छक्के छुड़ा दिए भारतीय सेना के जवानों ने कई पाकिस्तानी आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया. लेकिन साथ ही हमारे सेना के 5 जवान घायल हुए और एक जवान शहीद हो गया.

आपको बता दें यह वीर जवान मध्यप्रदेश के सतना के रहने वाले भारतीय सेना के करणवीर सिंह इस मुठभेड़ में शहीद हो गए. अपने प्राणों की आहुति दे दी करणवीर सिंह लगातार कई घंटों तक आतंकवादियों का मुकाबला करते रहे. शहीद करणवीर सिंह ने दो आतंकवादियों को मौत के घाट भी उतार दिया. यह ऑपरेशन पूरी रात चलता रहा रात को करीब 4:00 बजे आतंकवादी की गोली ने करणवीर सिंह को गोली लगी जिसके कारण उनको तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन उपचार के दौरान करणवीर सिंह वीरगति को प्राप्त हो गए.

शहीद करण वीर सिंह के शहीद होने की खबर उनके घर परिवार पहुंची तो उनके घर परिवार मैं मातम का माहौल छा गया.करणवीर सिंह दो भाइयों में छोटे भाई थे वह केवल 26 वर्ष के ही थे.आपको बता दें करणवीर सिंह ने अभी तक शादी नहीं की थी. वह कुंवारे थे 2 महीने पहले ही करण वीर सिंह छुट्टी पर अपने घर आए हुए थे और वह बहुत खुश भी थे. शहीद होने के एक दिन पहले ही करणवीर सिंह ने अपने माता-पिता रवि कुमार सिंह से फोन पर भी वार्तालाप की थी.

शहीद करणवीर सिंह के पिता रवि कुमार सिंह ने बताया कि उनके लिए बहुत ही गर्व की बात है कि उनका बेटा देश के लिए शहीद हो गया अब छाती तान कर चल सकेंगे और लोगों को बता सकेंगे कि उनके बेटे ने देश के लिए शहादत दी.बता दें कि करणवीर सिंह के पिता रवि सिंह जी सेना के रिटायर्ड जवान है. वही अपने पोते की शहादत पर करणवीर सिंह के दादा सूर्य प्रताप सिंह ने भी प्रतिक्रिया दी और कहा कि उनका पोता सही मायने में करणवीर था उन्हें उसकी शाहादत पर गर्व है.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *