Breaking News
Home / खबर / टिक टॉक और यूसी ब्राउजर समेत 59 चाइनीस एप्स को झटका हमेशा के लिए हुए बैन…

टिक टॉक और यूसी ब्राउजर समेत 59 चाइनीस एप्स को झटका हमेशा के लिए हुए बैन…

भारत सरकार ने टिक टॉक समिति 59 चायनीज ऐप्स पर स्थानीय रूप से बैन लगाने का फैसला किया है.इस संबंध में इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने इन ऐप को नोटिस जारी कर दिया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हम आपको बता दें एक अधिकारी ने कहा सरकार इन कंपनियों द्वारा दी गई प्रतिक्रिया स्पष्टीकरण से संतुष्ट नहीं है इसलिए इन 59 एप्स पर अब स्थानीय प्रतिबंध है.

 

बेन किए थे चाइनीस एप्स….

आपको बता दें कि चीन के साथ मुठभेड़ के बाद भारत सरकार ने पिछले साल जून में इन चाइनीस एप्स पर बैन लगाया था भारत ने कहा था कि इन एप्स से देश की संप्रभुता अखंडता और सुरक्षा को खतरा है. जिन एप्स को बैन किया गया था उनमें बाइटडांस कंपनी का पॉपुलर वीडियो मेकिंग एप टिक टॉक अलीबाबा का यूसी ब्राउजर और टेसेंट का वी chat जैसे ऐप शामिल थे।

इन स्मार्टफोंस पर काम नहीं करेगा वीडियो कॉलिंग ऐप Duo गूगल का फैसला..

सरकार ने मांगा था स्पष्टीकरण..

जून में बैन किए जाने के बाद सरकार ने इन कंपनियों को एप्स को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए प्राइवेसी और सिक्योरिटी के मामले में स्पष्टीकरण मांगा था उन्हें मंत्रालय द्वारा भेजे गए विस्तृत प्रश्नावली का जवाब देने के लिए भी कहा गया था.रिपोर्ट की मानें तो मंत्रालय को पिछले नोटिस पर ऐप्स का स्पष्टीकरण संतोषप्रद नहीं लगा जिस वजह से अब इन पर अस्थाई प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया है.
गूगल की Gmail यूजर्स को वार्निंग नए नियम न मानने पर बंद हो जाएंगे खास फीचर्स…

पिछले 6 महीने में बैन हुए 208 एप्स..

आपको बता दें कि पिछले 6 महीनों में भारत सरकार 208 अन्य चायनीसेक्स पर बैन लगा चुकी है सरकार ने 2 सितंबर को 118 चीनी एप्स पर बैन लगाया और इसके बाद नवंबर में 43
एप्स को ब्लॉक किया था.वही टिक टॉक के प्रवक्ता का कहना है कि हम नोटिस का आंकलन करने के बाद इसका जवाब देंगे भारत सरकार की ओर से 29 जून 2020 को जारी निर्देशों का पालन करने में टिक टॉक पहली कंपनी में से एक थी.

source.https://m.dailyhunt.in/news/india/hindi/live+hindustan-epaper-livehindu/tiktok+aur+uc+browser+samet+59+chainij+eps+ko+jhataka+hamesha+ke+lie+hue+bain-newsid-n248890828?s=a&uu=0x1997cf9393abe3a3&ss=pd&fbclid=IwAR38dj1JarH6DqN5s9pvxeI0ayxb-1ypms-ukMsM0235DbFOs_gOWYC8Dvo

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *