Breaking News
Home / बॉलीवुड / इन 7 करोड़पति इंडियन क्रिकेटर्स ने बचपन बहुत गरीबी और संघर्ष में गुज़ारा, एक तो चौकीदारी करता था..

इन 7 करोड़पति इंडियन क्रिकेटर्स ने बचपन बहुत गरीबी और संघर्ष में गुज़ारा, एक तो चौकीदारी करता था..

सफलता हमेशा ही अपनी मेहनत के दम पर प्राप्त की जाती है ।इंसान द्वारा किए गए प्रयास एवं उसकी लगातार की जा रही कड़ी मेहनत उसको सफलता के शिखर पर पहुंचा ही देती है। आज हम बात कर रहे हैं क्रिकेट जगत के उन मशहूर सितारों की जिन्होंने अपने कड़ी मेहनत से आज सफलता भरा मुकाम पाया है। इन मशहूर क्रिकेटर की सफलता की कहानी आज सभी को प्रेरित करती है।


इन से प्रेरणा पाकर ही कई लोग सफलता के मार्ग पर चल पड़ते हैं ।जी हां हम बात कर रहे हैं भारतीय क्रिकेट टीम के उन सितारों की जो आज करोड़ों के मालिक हैं ।लेकिन यह मालिकाना हक उन्होंने बहुत संघर्ष के बाद प्राप्त किया है।

वैसे तो भारतीय क्रिकेट टीम के सभी खिलाड़ी अपनी काबिलियत के दम पर ही टीम में मौजूद हैं ।लेकिन यहां हम बात कर रहे हैं उन खिलाड़ियों के जिन्होंने बहुत गरीबी एवं संघर्ष से इस मुकाम को पाया है ।

भुवनेश्वर कुमार-


भारतीय क्रिकेट टीम के इस खिलाड़ी ने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए एक मैच में लगातार पांच विकेट लेकर अपने नाम रिकॉर्ड कायम कर लिया है ।भुनेश्वर कुमार को भुवन या भूवी कहकर भी पुकारा जाता है। इन्हें स्विंग किंग के नाम से भी पुकारा जाता है ।यह सभी फॉर्म में बॉल खेल लेते हैं ।यह एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं ःइनके माता-पिता का एक सपना था कि यह कभी इंडिया टीम की तरफ से क्रिकेट खेले । क्रिकेट में इनकी रूचि 10 वर्ष की उम्र से ही होने लगी थी। इनकी इस रूचि का समर्थन इनकी बहन ने किया था ।पारिवारिक स्थिति डांवाडोल थी जिसके कारण यह बहुत मुश्किलों से यहां तक पहुंचे हैं।

महेंद्र सिंह धोनी-


महेंद्र सिंह धोनी आज इनके खेल एवं खेल फॉर्म से सभी परिचित हैं ।इन्हें कैप्टन कूल के नाम से संबोधित किया जाता है ।यह मान एवं संबोधन इन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और संघर्ष के दम पर पाया है। इस बात से भी सभी परिचित हैं कि इंडियन क्रिकेट टीम के कप्तान बनने से पहले इन्होंने रेलवे में टी सी के पद पर कार्य किया है। लेकिन यह खेल जगत में केवल नौकरी पाने के लिए ही नहीं आए थे ।इनका सपना तो भारतीय क्रिकेट जगत को ऊंचाइयों तक ले जाना था ।अपने जीवन में आए हुए पड़ाव को पार करते हुए इन्होंने इंडियन टीम में एक बहुत ऊपर का मुकाम प्राप्त किया है ।जहां तक पहुंचना शायद किसी के लिए भी आसान नहीं होगा। यह टीम इंडिया में विकेटकीपर के तौर पर शामिल किए गए थे ।लेकिन आज इनकी बल्लेबाजी भी बहुत ही शानदार है।

रविंद्र जडेजा-


भारतीय क्रिकेट टीम के ऑल राउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा का जीवन बहुत ही संघर्ष में रहा है। अपने प्रारंभिक जीवन में इन्होंने बहुत गरीबी का सामना किया हैः जिसके तहत कई बार इनको खाने पीने की भी समस्या हो जाती थी। अपने घर की परिस्थितियों को देखते हुए इन्होंने चौकीदारी का काम भी किया। लेकिन अपने इस संघर्ष में यह कभी घबराए नहीं ।ना ही कहीं रुके ।यह धीरे-धीरे अपने इस संघर्ष वाले पड़ाव को पार करते हुए क्रिकेट जगत में एक सितारे के रूप में चमक रहे हैं।

रोहित शर्मा-


इंडियन क्रिकेट टीम में वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले खिलाड़ी के तौर पर जाने जाने वाले रोहित शर्मा आज से पहले बहुत ही संघर्ष में जीवन व्यतीत कर रहे थे। इनके पिता की स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी कि वह रोहित शर्मा को खेल सिखा सकें ।गरीबी एवं लाचारी के कारण वे अपने चाचा के यहां रह कर क्रिकेट खेलने लगे। क्रिकेट सीखने के लिए यह अपने घर से दूर एक बहुत लंबा फासला पैदल चलकर पार किया करते थे ।जिसके चलते इन्हें बहुत कठिनाई होती थी। लेकिन इन्होंने फिर भी हिम्मत नहीं हारीऔर सब कठिनाइयों को पार करते हुए भारतीय क्रिकेट टीम में एकअच्छा स्थान प्राप्त किया है।

उमेश यादव-


किसी समय कोयले की खान में काम कर अपने परिवार के जीवन यापन करने वाला आज भारतीय क्रिकेट टीम का शानदार खिलाड़ियों में गिने जाते है इसका श्रेय इनकी संघर्ष एवं मेहनत को ही जाता है ।आज इनकी पहचान भारतीय टीम में फास्ट बॉलर के रूप में की जाती है।

6.जसप्रीत बुमराह–

घातक बल्लेबाज वाले बुमराह यॉर्कर फेकने में माहिर है.बुमारह के जीवन में काफी बुरे दिन देखने पड़े थे. पिता की मृत्यु के बाद तो टूट गए थे लेकिन संघर्ष करते हुए आज दुनिया में सबसे बेस्ट बॉलर माने जाते है. भारतीय टीम के इन खिलाड़ियों ने ये साबित कर दिया है अगर किसी लक्ष्य को पाने के लिए सही दिशा में मेहनत की जाये तो मंज़िल तक पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता है ।

7 .अंजिक्य रहाणे–

मिस्टर क्लासिक के नाम से फेमस अंजिक्य रहाणे का भी जीवन भी कम संघर्ष भरा नहीं है इन्होने गरीब परिवार से होने के बावजूद अपने टैलेंट के दम पर भारतीय टीम में जगह बनाई थी. बचपन अभावों में गुजरा था और खाने को पैसे भी नही थे, पर आँखों में सपना था क्रिकटर बनने का,त माम कठिनाइयों से जूझते हुए उन्होंने टीम इंडिया में जगह बनाई.

sorce

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *