Breaking News
Home / फ़िल्मी / ऐसा क्या था इस एक्टर के काले कोट में जिसकी वजह से लड़कियों ने उठाया था खौफनाक कदम, फिर हुआ ये

ऐसा क्या था इस एक्टर के काले कोट में जिसकी वजह से लड़कियों ने उठाया था खौफनाक कदम, फिर हुआ ये

बॉलीवुड जगत के सबसे हैंडसम कलाकार देव आनंद.देव आनंद ने बॉलीवुड इंडस्ट्री को बहुत ऊंचाई पर पहुंचाया है.उन्होंने शुरुआती दशकों मे देश विदेश में अपनी धाक जमाई.उनकी एक्टिंग उनकी अदाकारी सभी को दीवाना बना देती थी.देव आनंद बॉलीवुड के कलाकारों के रोल मॉडल के साथ साथ बॉलीवुड के पिता भी कहे जा सकते है.उनकी फिल्मों ने बॉलीवुड में क्रांति ला दी थी.उनकी अदाकारी की सबसे अधिक लड़कियां फैंस थी.कहा जाता है कि उनको हमेशा लाखो लड़की के हाथ मिलते थे प्यार इजहार के.देव आनंद बॉलीवुड में महान कलाकारो में शामिल है.अगर देव आनंद नहीं होते तो शायद ही बॉलीवुड आज इस जगह पर स्थापित हो पाता है.


उन्होंने आज़ादी के बाद से देश को मनोरंजन की दुनिया से जोड़ा और अपनी फिल्मों से सबको दीवाना बना दिया है.आज भी बॉलीवुड में उनका नाम बड़ी इज्जत से लिया जाता है.देव आनंद का जन्म 27 सितम्बर 1923 की हुए था.उनकी आरंभिक जिंदगी काफी कठिनाई से भरी थी.मुंबई में एक छोटी सी नौकरी से उन्होने शुरआत की.लेकिन जल्द ही उनकी बॉलीवुड में एंट्री हो जाती है और वो पूरे भारत मे हिट हो जाते है.उनकी पहली हिट फिल्म 1948 में आई जिसका नाम जिद्दी था.इस फिल्म में उनके अभिनय को सबने सलाम किया.अपनी जिंदगी में उन्होंने 112 से अधिक फिल्में की थी.देव आनंद के जिन्दगी का एक अलग ही किस्सा आपको बताते है.बॉम्बे हाईकोर्ट ने उनके काले कलर के जैकेट ओर व्हाईट शर्ट पब्लिक इवेंट पर पहनने पर रोक लगा दी थी.ये इसलिए किया गया जब देव आनंद ब्लैक कलर का कोट पहनते तो लड़कियां उनके प्यार में दीवानी हो जाती थी और आत्महत्या कि कोशिश करती थी.देव आनंद ने अपनी अदाकारी का ऐसा जादू कर रखा था कि देश का हर व्यक्ति उनकी कॉपी करने लग गया था.

देव आनन्द ने कई फिल्मों का निर्देशन भी किया है.देव आनंद की मौत 3 दिसंबर 2011 को हो गई थी लेकिन आज भी उनके किस्से ओर उनका नाम इज्जत से लिया जाता है.देव आनंद के बेहतरीन कलाकारी के लिए उनको भारत सरकार ने 2001 में पद्म भूषण दिया गया था.इसके अलावा 2 बार फिल्म फेयर पुरस्कार मिला हुआ है.देव आनंद का बचपन का नाम धरम देव पिशोरी मल आनंद था.देव आनंद फिल्म जगत के महान अदाकार है.उन्होने अपनी फिल्म निर्देशित फिल्म 1972 में हे रामा हरे कृष्णा से कि थी.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *