बॉलीवुड

ARYAN KHAN का केस लड़ रहे हैं सतीश मानशिंदे, सलमान खान और रिया चक्रवर्ती तक का लड़ चुके हैं केस

आज हम आपसे बॉलीवुड फ़िल्मी दुनिया के मशहूर अभिनेता शाहरुख खान के बारे में बात करने जा रहे हैं. बॉलीवुड फिल्मी दुनिया में अभिनेता शाहरुख खान की फैन फॉलोइंग लाखो  में है.फैन्स उनको अपने दिल में बसा कर रखते हैं.शाहरुख खान किंग खान के नाम से भी जाने जाते हैं.  बॉलीवुड फिल्मी दुनिया के बादशाह शाहरूख खान ने वह मुकाम हासिल किया है फिल्म इंडस्ट्री में जो बहुत कम अभिनेताओं को हासिल हो पाता है. शाहरुख खान ने फिल्मी दुनिया में एक से एक हिट फिल्म दी है.

 

 

जैसा की चर्चा में आजकल शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान बने हुए हैं उनको एमसीबी ने ड्रग्स मामले में हिरासत में लिया हुआ था और उनका केस को लड़ने के लिए शाहरुख खान ने बहुत बड़े वकील को अपने बेटे के केस के लिए किया गया है. शाहरुख खान अपने बेटे के ड्रग्स मामले में शामिल होने से काफी मुसीबत में आ गए हैं हजारों अपने अपने बेटे के लिए बहुत बड़े वरिष्ठ वकील सतीश शिंदे को बेटे का केस लड़ने के लिए नियुक्त किया है.

 

की जानकारी के लिए बता दें सतीश शिंदे काफी बड़े वकील हैं और उन्होंने आर्यन के केस से पहले भी बॉलीवुड में ड्रग्स के मामले में पकड़े गए कलाकार और सितारों के केस लड़े हैं. बॉलीवुड सितारों के पक्ष में कैसे लड़ते हुए वह सभी के चहेते वकील बन चुके हैं इसी कारण से शाहरूख ने भी अपने बेटे के ड्रग्स मामले में एडवोकेट सतीश मान शिंदे को ही नियुक्त किया है.

 


56 वर्ष के वरिष्ठ वकील सतीश शिंदे हाई प्रोफाइल मामलों को ही अपने हाथ में लेने के लिए भी जाने जाते हैं और 1993 के बम विस्फोट के मामले में संजय दत्त के केस मेंजो वकीलों का बेच था उस बैच में सतीश मांशिंदे नहीं संजय दत्त पर गंभीर आरोप लगने के बावजूद भी संजय दत्त को इस केस में जमानत दिलवाने में सफलता हासिल की थी.

वर्ष 2002 में सलमान खान का ड्रिंक कर गाड़ी चलाकर एक्सीडेंट के मामले में भी सतीश शिंदे ने जमाना दिलवाई थी तब भी काफी ज्यादा सफलता हासिल हुई थी. पिछले वर्ष रिया चक्रवर्ती शौविक चक्रवर्ती को भी केस में सुशांत सिंह के मामले में गिरफ्तार किया गया था और उनको भी जमानत दिलाई थी तभी से वह काफी ज्यादा तजुर्बे कार वकील माने जाने लगे हैं इसी कारण से बड़े फिल्मी सितारे हाई प्रोफाइल लोग सतीश शिंदे एडवोकेट को ही अपने केस के लिए नियुक्त करना जरूरी समझते हैं.आपको बतादे 1983 में मानशिंदे ने प्रसिद्ध अधिवक्ता स्वर्गीय राम जेठमलानी के नेतृत्व में एक वकील के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी.उन्होंने लगभग 10 वर्षों तक प्रैक्टिस की थी.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top