बॉलीवुड

अजान-हुनमान चालीसा विवाद में अब सोनू सूद की हुई एंट्री बोले ‘जब ऑक्सीजन की जरूरत थी ….

हम आपसे आज बात करेंगे बॉलीवुड फिल्मी दुनिया के सुपर हीरो सोनू सूद जो काफी ज्यादा दयालु भाव रखते हैं. और सोनू सूद ने महामारी के बुरे समय में कई जरूरतमंद लोगों की बहुत ज्यादा मदद की आज भी हमेशा ही हर जरूरतमंद की जरूरत पूरी करने के लिए सबसे पहले तत पर बने रहते हैं और बढ़-चढ़कर किसी के भी सहायता करने के लिए आगे आते है.

कभी पीछे नहीं हटते.अब एक बार फिरसे एक्टर सोनू  सुर्खियों में बने हुए हैं. पिछले कुछ दिनों से देश में धर्म की राजनीति का खेल शुरू हो चुका है. राजनीतिक दलों के नेता हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर को लेकर बहुत ही ज्यादा बयान दे रहे हैं. यह विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा. इस विवाद में अब एक्टर सोनू सूद भी एंट्री ले चुके हैं और सोनू सूद का कहना है हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर विवाद पर खुलकर बात की और कहा कोरोनावायरस के दौरान लोगों को ऑक्सीजन की जरूरत थी. उस समय किसी ने ना तो किसी का धर्म देखा और ना ही किसी की जाति पूछी.

आपको बतादे एक्टर सोनू सूद देश में चल रहे लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा विवाद में एंट्री ले चुके हैं. उन्होंने पूणे के JITO कनेक्ट 2022 समिट में इस विवाद पर बात करते हुए कहा,मुझे दुख है और हमें मिलकर काम करने की जरूरत है. सोनू सूद ने कहा उन्हें हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर विवाद के बारे में सुनकर दुख हो रहा है.उनका कहना है लोगों को करोना कॉल को नहीं भूलना चाहिए.

लोग जिस तरह से हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर को लेकर जहर उगल रहे हैं. उसे देखकर उनका दिल टूट रहा है. उन्होंने कहा हम पिछले ढाई सालों से करोना की लड़ाई लड़ रहे हैं.अभी हम सबको साथ की जरूरत है.

 


सोनू सूद ने कहा करोना की पहली और दूसरी लहर के दौरान जब ऑक्सीजन की जरूरत थी तब किसी ने ना तो धर्म की चिंता की ना ही किसी की जाति पूछी. सब ने मिलकर काम किया.राजनीतिक दलों ने भी इस दौरान मिलकर काम किया. जिस करोना ने कई घाव दिए. उसे सभी को एक कर दिया था. उन्होंने कहा मैं सभी राजनीतिक पार्टियों से अपील करता हूं वह देश के लिए एक साथ आएं.हमें देश की बेहतरी के लिए धर्म, जातियों की सीमाओं को तोड़ना होगा. हमें धर्म और जाति के ऊपर उठकर मानवता के लिए साथ आना होगा.एक्टर सोनू सोनू ने पहली बार ऐसी बात पर अपनी राय रखी है. जानकारी के लिए बता दे  सोनू सूद अक्सर देश के मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखते हैं.उन्होंने करोना महामारी और लॉकडाउन के समय आगे बढ़कर काम किया.सभी की सहायता की खुले मन से लोगों के घर भेजना हो या करोना के इलाज के लिए ऑक्सीजन और दवाइयां उपलब्ध करवाना हो.एक्टर सोनू सूद ने मदद की तो लोगों ने भी उन्हें प्यार किया. लोगों ने उन्हें रियल हीरो का टैग दिया है. सच में ऐसे एक शख्सियत के मालिक हैं एक्टर सोनू सूद जो कि बहुत ही कम लोग होते हैं. सभी के लिए उनके हृदय में दयालुता कूट-कूट कर भरी है. वह कभी भी किसी की सहायता करने से पहले धर्म जाति और ऊंच-नीच की भावना को अपने मन में नहीं लाते.

To Top