बॉलीवुड (Bollywood)

कंडक्टर की नौकरी कर गुजारा करते थे रजनीकांत. इस दोस्त की मदद से बने सुपरस्टार…

साउथ फिल्म इंडस्ट्री से बॉलीवुड तक अपनी दमदार और शानदार एक्टिंग से लोगों के दिलों पर राज करने वाले एयरटेल का जन्म एक मराठी परिवार मैं 12 दिसंबर 1950 को हुआ था. उनका असली नाम शिवाजीराव गायकवाड है¡ रजनीकांत ने अपने शुरुआती कैरियर में काफी ज्यादा परेशानियों का सामना किया. आज उनके जन्मदिन के मौके पर फंकी लाइफ के किस्से शेयर कर रहे हैं. रजनीकांत ने जिस परिवार में जन्म लिया था उस परिवार में आर्थिक स्थिति काफी कमजोर थी.

पैसों की कमी ने रजनीकांत को कुली बना दिया. पैसे कमाने के लिए उन्होंने कुली का काम भी किया. इसके बाद कंडक्टर की नौकरी भी की. एक दोस्त ने उनके अंदर छिपे कलाकार को पहचाना. 1974 में मद्रास फिल्म इंस्टीट्यूट में दाखिला करवाने में उनके दोस्त ने काफी मदद की. दाखिले के बाद उन्होंने तमिल भाषा सीखी. लेकिन उन्हें फिल्म में आने के लिए अपना नाम बदलने की जरूरत महसूस हुई.

इस दौरान उन्होंने अपना नाम बदलकर रजनीकांत रख लिया. 1975 में रजनीकांत की पहली तमिल फिल्म अपूर्वा रागंगल आई. इस फिल्म में रजनी को सपोर्टिंग रोल मिला. उनके इस रोल को काफी सराहा गया. इसके बाद उन्होंने कन्नड़ मूवी में काम किया. इसके बाद उन्हें एक के बाद एक रोल मिलने शुरू हो गए. उन्होंने बॉलीवुड में भी खूब नाम कमाया
काफी हिट फिल्में की. रजनीकांत ने दोस्ती दुश्मनी. बुलंदी.गिरफ्तार. फूल बने अंगारे.इंसानियत के देवता. इंसाफ कौन करेगा.खून का कर्ज़.हम.चालबाज.2.0. जैसी सुपरहिट फिल्में की, रजनीकांत को फिल्मों में योगदान के लिए साल 2000 में पद्म भूषण और 2016 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया.

रजनीकांत साउथ के ही नहीं इंडियन फिल्म हिस्ट्री के सुपरस्टार हैं. इतना ही नहीं एशिया में सबसे ज्यादा फिल्म में पैसा लेने वाले एक्टर में तीसरे स्थान पर है, रजनीकांत इंडिया के सबसे महंगा एक्टर है. रिपोर्ट के मुताबिक कबाली में रजनीकांत ने 40 से 60 करोड़ चार्ज किए थे. पिछले साल रिलीज हुई फिल्म 2.0 के लिए भी रजनीकांत ने 80 करोड़ रुपए लिए थे.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top