Breaking News
Home / क्रिकेट / क्रिकेटर बाप-बेटे की 6 ऐसी जोड़ी, जिन्होंने दो देशों की तरफ से खेला क्रिकेट, लिस्ट में कई भारतीय

क्रिकेटर बाप-बेटे की 6 ऐसी जोड़ी, जिन्होंने दो देशों की तरफ से खेला क्रिकेट, लिस्ट में कई भारतीय

यूं तो क्रिकेट ,दिलचस्पी, परिवारवाद और रिकॉर्ड का गहरा संबंध है.परिवारवाद से याद आया कि क्रिकेट में बाप-बेटे और भाई-भाई की कई जोड़ियां जलवा बिखेर चुकी हैं.लेकिन आज हम आपको कई ऐसे भाइयों और पिता-पुत्र के जोड़ियों के बारे में बताएंगे जो 2-2 देश से खेले हैं.

पिता– रॉन हेडली (वेस्टइंडीज) बेटा- डीन हेडली (इंग्लैंड)

जहां रॉन हेडली उस वक्त के विश्व विजेता वेस्ट इंडीज के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला ती वहीं उनके बेटे डीन हेडली क्रिकेट की जननी इंग्लैंड के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला है.हेडली परिवार बहुत पहले से क्रिकेट से जुड़ा हुआ था।रॉन हेडली के पिता भी वेस्ट इंडीज के पूर्व बल्लेबाज थे.हालाँकि, रॉन हेडली ने 1973 में वेस्टइंडीज के लिए केवल 2 टेस्ट और 1 एकदिवसीय मैच खेले थे.जबकि डीन हेडली अपने दादा और पिता के विपरीत 1996-99 के दौरान इंग्लैंड के लिए 15 टेस्ट और 13 एकदिवसीय मैच खेल कर 15 टेस्ट में उन्होंने 60 विकेट लिए.

पिता– मोहम्मद जहाँगीर खान (भारत) बेटा – माजिद खान (पाकिस्तान)

जहां मोहम्मद जहाँगीर खान भारत के लिए खेले थे वहीं उनके बेटे माजिद खान ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में दुश्मन देश पाकिस्तान के लिए खेले.हालांकि उन्होंने पाकिस्तान के लिए खेलना बंटवारे के वजह से चयन करना पड़ा.

पिता– सैयद वज़ीर अली (भारत) बेटा- खालिद वज़ीर (पाकिस्तान)

यहां भी सैयद वज़ीर अली भारत के लिए तो उनके बेटे खालिद वज़ीर पाकिस्तान के लिए क्रिकेट खेला.सैयद वज़ीर अली भारत के लिए क्रिकेट खेले थे जबकि उनके बेटे खालिद वज़ीर पाकिस्तान के लिए क्रिकेट खेला. जहाँगीर खान की तरह, सैयद वज़ीर अली ने भी ब्रिटिश शासन के दौरान भारत के पंजाब के जुलुंडूर में जन्म लिया था. वजीर अली दाएं हाथ के बल्लेबाज थे जिन्होंने 1932-36 के दौरान भारत के लिए 7 टेस्ट खेले. सैयद वज़ीर अली के बेटे खालिद वज़ीर ने 1954 में पाकिस्तान के लिए केवल 2 मैच खेले.

•डॉन प्रिंगल पूर्व अफ्रीकी क्रिकेटर थे जबकि उनके बेटे डेरेक प्रिंगल इंग्लैंड के क्रिकेटर थे.

•इफ्तिकार अली खान पटौदी जहां इंग्लैंड के लिए भी क्रिकेट खेला. दूसरी ओर इफ्तिखार के बेटे सैफ अली खान के पिता मंसूर अली खान पटौदी ने 46 टेस्ट (1961-75) में भारत का प्रतिनिधित्व किया.

पिता- फ्रैंक हेर्ने (इंग्लैंड/दक्षिण अफ्रीका) बेटा- जॉर्ज अल्फ्रेड लॉरेंस हर्न (दक्षिण अफ्रीका)
फ्रैंक हेर्ने ने इंग्लैंड के लिए केवल 2 टेस्ट मैच (1889 में) खेले थे जबकि उन्होंने अगले 4 टेस्ट मैच दक्षिण अफ्रीका (1892-1896) के लिए भी खेले थे. वहीं दूसरी तरफ उनके बेटे जॉर्ज हेर्न (GAL Hearne) केवल दक्षिण अफ्रीका के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *