Breaking News
Home / खबर / कितनी संपत्ति के मालिक थे एमडीएच वाले दादाजी

कितनी संपत्ति के मालिक थे एमडीएच वाले दादाजी

हमारे देश में कई सारे बड़े उद्योगपति हुए हैं। इन उद्योगपतियों से सबसे मशहूर नाम मुकेश अंबानी का है। जिन्हें सभी जानते हैं लेकिन दोस्तों क्या आपको मालूम है कि एमडीएच मसाले के मालिक कौन हैं। और उनके पास मौजूदा वक्त में कितनी संपत्ति है। शायद आप इस बात से अनजान होंगे लेकिन आज हम आपको यह बताने वाले हैं कि जिस मसाले का रोजाना जीवन में आप उपयोग करते हैं उस एमडीएच मसाले की कंपनी के मालिक कौन हैं और उनके पास कितनी संपत्ति है ।

कितनी संपत्ति के मालिक थे एमडीएच वाले दादाजी - The Gyan Tv

आपको बता दें कि एम डी एच मसाले के मालिक का नाम धर्मपाल गुलाटी है। जिन्होंने इस देश में अपनी एक अलग पहचान बनाई। धरमपाल गुलाटी जी को देश और विदेश में सभी लोग पहचानते हैं। इन्होंने मसाले की दुनिया में अपनी अलग पहचान बना ली है ।

बता दें कि 3 दिसंबर साल 2020 में 97 वर्ष की उम्र में धर्मपाल गुलाटी जी इस दुनिया को अलविदा कह कर चले गए। दिल का दौरा पड़ने के कारण उनका निधन हो गया। धर्मपाल गुलाटी जी को मसाले किंग के नाम से भी जाना जाता है। धर्मपाल गुलाटी जी की कामयाबी की कहानी लोगों के लिए आज एक प्रेरणा स्रोत बन चुकी है। हम उनके संघर्ष के बारे में है आज आपको बताने जा रहे हैं ।

MDH Masala Company owner Mahashay Dharmpal Gulati wiki age family property salary net worth - विभाजन के समय महज 1500 से लेकर आए थे MDH के दादाजी धर्मपाल गुलाटी, इतनी संपत्ति पीछे

आपको बता दें कि साल 1919 में सियालकोट में धर्मपाल गुलाटी जी का जन्म हुआ था । इनका बचपन बहुत ही गरीबी में बीता। यह सियालकोट वर्तमान समय में पाकिस्तान में पड़ता है । धरमपाल गुलाटी जी की पढ़ाई केवल पांचवी कक्षा तक ही हो सकी और इसके बाद इन्हें अपनी पढ़ाई छोड़नी पड़ी ।

कभी खुद पीसकर बेचते थे मसाले, 96 साल के MDH मसाले वाले धर्मपाल गुलाटी ने ऐसे खड़ा किया करोड़ों का एंपायर-Mahashay Dharampal Gulati MDH Success Story Mahashay Dharampal Gulati ...

बता दें कि उस वक्त धर्मपाल गुलाटी जी के पिता एक छोटी सी मसाले की दुकान किया करते थे और इस दुकान का नाम एमडीएच था। जिस वक्त भारत और पाकिस्तान का बंटवारा हुआ उस वक्त अपने परिवार के साथ दिल्ली में आ गए और यहां पर टांगा चलाने का काम करने लगे थे ।

छोटी दुकान से की शुरुआत

In Pics: Life story of MDH owner 'Mahashay' Dharampal Gulati

सन 1952 में धर्मपाल गुलाटी जी ने चांदनी चौक में एक छोटी सी दुकान ली और फिर से उस पर मसाला बनाने एवं बेचने का काम शुरू किया। इन्होंने इस दुकान का नाम भी एमडीएच रखा। धीरे-धीरे इनकी यह दुकान प्रसिद्ध होती गई और लोग यहां पर आने लगे। जब इन्हें दुकान से अच्छी आमदनी हो गई तब उन्होंने एक फैक्ट्री शुरू की और धीरे-धीरे इनका यह व्यापार यहीं से बढ़ने लगा।

mdh owner death news: MDH owner Mahashay Dharampal Gulati passes away at 98 - The Economic Times

होते होते एमडीएच मसालों का व्यापार इतना अधिक बढ़ गया कि आज देश ही नही बल्कि विदेशों में भी इनका नाम सभी जानते हैं । बता दें कि धर्मपाल गुलाटी जी भारत के सबसे अधिक सैलरी लेने वालों में सीईओ थे साल 2017 की एक सूत्र के अनुसार इनकी सैलरी ₹210000000 हुआ करती थी । एक और रिपोर्ट के अनुसार साल 2017 में एम डी एच मसाले कंपनी को कुल मुनाफा 213 करोड रुपए का हुआ था । बता दें कि गुलाटी जी समाज के हित एवं समाज सेवा में भी बहुत आगे रहते थे ।और इन्होंने अपने पिता महाशय चुन्नी लाल के नाम पर महाशय चुन्नी लाल चैरिटेबल ट्रस्ट की भी शुरुआत की थी।

MDH Owner Mahashay Dharampal Gulati Donates 7500 PPE Kits to Manish Sisodia

इस ट्रस्ट में इन्होंने 250 बेड वाले एक अस्पताल ही बनवाया है इस अस्पताल में गरीबों का मुफ्त इलाज किया जाता है। इसके साथ ही यह ट्रस्ट स्कूल भी चलाता है जिसमें गरीब बच्चों को मुफ्त में शिक्षा प्रदान की जाती है । बता दें कि जब धर्मपाल गुलाटी जी बंटवारे के समय पाकिस्तान से दिल्ली आए थे तब इनके जेब में केवल डेढ़ हजार रुपए थे ।लेकिन आज अपनी मेहनत एवं लगन के कारण यह अपने पीछे 54 करोड रुपए की संपत्ति बना करके छोड़ गए हैं।

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *