क्रिकेट (Cricket )

रिटायरमेंट के बाद धोनी बेच रहे हैं टमाटर दूध, अंदर से देखें कैसा है उनका फार्म

भारतीय क्रिकेट के सबसे सफल कप्तान माने जाने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट से सन्यास ले चुके हैं। अब सन्यास लेने के बाद धोनी सब्जियाँ और दूध बेच रहे हैं।

जी हाँ रिटायरमेंट के बाद अब महेंद्र सिंह धोनी, अपने दूध डेयरी और आर्गेनिक खेती पर फोकस कर रहे हैं। धोनी का यह फार्म हाउस धुर्वा के सेम्बो में 55 एकड़ में बना है। धोनी यही डेयरी फार्म के साथ साथ आर्गनिक खेती भी कर रहे हैं। यहां वर्तमान में मौसमी सब्जियों को उगाया जा रहा है।

धोनी के इस फार्म हाउस में टमाटर,पत्ता गोभी, फूल गोभी आदि सब्जियों की खेती की जा रही है। अभी यहां टमाटर उगाए जा रहे हैं। धोनी के फार्म हाउस से रोजाना 80 kg टमाटर तोड़े जाते हैं। इनकी खपत बहुत जल्दी होती है ।

इन टमाटरों को पूरी तरह ऑर्गेनिक तरीके से उगाया जा रहा है। हफ्ते भर में इनके खेत मे उगी गोभिया भी बाजार में बिकने के लिए तैयार हो जाएंगी। रांची के लोग टमाटर के साथ साथ धोनी के खेत मे उगी गोभी का भी स्वाद ले सकेंगे।

धोनी के खेत मे उगने वाले टमाटर फिलहार 40 रुपए किलो बिक रहा है। इनके दूध डेयरी में रोज 300 लीटर ढूध निकल रहा है। जिसे सीधी बाजार में 55 रुपए के भाव से बेचा जा रहा है। यह पूरा दूध कुछ ही समय मे खपत हो जाता है।

धोनी के डेयरी फार्म में भारतीय नस्ल की सहवाल और फ्रांस नस्ल की फ्रीजियन गाय हैं। यह सारी गाये पंजाब से लाई गई हैं। वर्तमान में इनकी गौशाला में 70 गाये मौजूद हैं। यह पूरी जानकारी यहाँ की देखरेख करने वाले डॉक्टर विश्वरंजन ने दी।

इनके फार्म हाउस की देख रेख शिवनंदन और उनकी पत्नी सुमन यादव करते हैं। इन दोनों के ऊपर ही पूरे सब्जी के कारोबार की जिम्मेदारी है।अभी तक यहां की खेती से धोनी लाखों रुपए कमा चुके हैं। धोनी अपने फार्म हाउस और डेयरी फार्म से बहुत खुश हैं।

शिवनंदन बताते हैं कि धोनी रांची में होने पर दो- तीन दिन पर अपने फार्म हाउस आते रहते हैं। शिवनंदन ने यह भी बताया कि सब्जियों और ढूध की बिक्री से जो भी पैसा मिलता है वह सीधा धोनी के बैंक एकाउंट में डाल दिया जाता है।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top