Entertainment

कौन राजकुमारी दिया कुमारी जिन्होंने कहा ‘जिस जमीन पर ताजमहल बना है, वह हमारी है’ -जाने इनके बारे अनसुने किस्से

आज के इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसी हस्ती की जो कि साधारण नहीं है बल्कि एक राजघराने से ताल्लुक रखती हैं जाहिर सी बात है एक राजघराने से ताल्लुक रखने वाली महिला आम तो हो नहीं सकती मगर अपने कुछ बयान से वह चर्चा में जरूर आ गई हैं हम बात कर रहे हैं राजकुमारी दिया कुमारी की जिन का परिचय एक आम परिचय नहीं है जयपुर की दीया कुमारी जयपुर के महाराजा सवाई सिंह और महारानी पद्मिनी देवी की पुत्री हैं मगर वर्तमान में आपको बता दे दिया कुमारी भारतीय राजनीतिज्ञ राजसमंद से लोकसभा सांसद भी हैं और राजस्थान से पूर्व सवाई माधोपुर से विधायक भी थी,

राजकुमारी दिया कुमारी की बात करें तो शुरुआती पढ़ाई उन्होंने दिल्ली और जयपुर से की आगे की पढ़ाई के लिए लंदन चली गई उसके बाद सन् 1997 में वे चर्चा में आ गई उन्होंने नरेंद्र सिंह नामक युवक से छुपकर शादी कर ली थी और फिर कोर्ट मैरिज वही नरेंद्र सिंह किसी राजघराने से ताल्लुक नहीं रखते थे राजकुमारी का एक साधारण व्यक्ति से शादी करना चर्चा का विषय बन गया सोशल मीडिया की मानें तो दिया कुमारी अपनी दादी राजमाता गायत्री देवी के नक्शे कदम पर चल कर राजनीति में आना चाहती थी दीया कुमारी का संबंध जयपुर राजघराने से तो है ही सबसे महत्वपूर्ण बात मान सिंह जोकि मुगल सम्राट अकबर के नवरत्नों में शामिल थे,

यह उनका ही राजघराना था इतिहास में देखे तो पहले आमेर और बाद में जयपुर के नाम से जाना जाने लगा इसी राजघराने के परिवार में पैदा हुए महाराज सवाई सिंह और उनकी पत्नी का नाम पद्मिनी देवी था कहा यह भी जाता है क्या यह राज परिवार खुद को भगवान का वंशज भी कहते हैं, वैसे तो इस राजघराने की काफी सारी बातें बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण और प्रचलित हुई हैं जैसे कि जयपुर के पूर्व महाराजा भवानी सिंह भगवान राम की बेटे कुश के 309वे वंशज थे वही दिया कुमारी भवानी सिंह की इकलौती संतान थी,

कोई पुत्र ना होने पर 2011 में अपना वारिस घोषित कर दिया था दीया कुमारी राजघराने से होने के बावजूद राजनीति में भी आई और वर्तमान समय में सांसद भी हैं लेकिन चर्चा में दिया कुमारी उस वक्त आई दुनिया के सात अजूबे में आने वाली ऐतिहासिक इमारत ताजमहल के 22 कमरे खोलकर और पुरातत्व सर्वेक्षण कराने को इलाहाबाद हाईकोर्ट में मामला चला,

तभी इस बीच दीया कुमारी ने यह दावा किया कि यह संपत्ति राजघराने की है जहां ताज महल बनाया गया है यहां तक कि भैया ने यह भी कहा कि मुगलों ने जबरदस्ती दबाव बनाकर यह संपत्ति उनसे छीन ली थी इससे जुड़े दस्तावेज भी जयपुर में मौजूद हैं जिसकी पुष्टि दीया कुमारी करती हैं और कोर्ट के फैसले के बाद भी दस्तावेज लाने को भी तैयार हैं ।

To Top