Breaking News
Home / कुछ हटकर / एक विधवा की बद्दुआ के कारण 17 वर्षों से खाली पड़ा है आलीशान घर, कोई भी इसे मुफ्त में भी खरीदने को भी तैयार नहीं

एक विधवा की बद्दुआ के कारण 17 वर्षों से खाली पड़ा है आलीशान घर, कोई भी इसे मुफ्त में भी खरीदने को भी तैयार नहीं

दुनिया में वैज्ञानिकों द्वारा नई नई खोज करके समाज में अपनी पहचान कायम कर ली है.वैज्ञानिक सोच और समझ ने दुनिया में अंधविश्वास को खत्म करने सहायता की.लेकिन सही मायने में आज भी दुनिया में कई ऐसे कोन है जहा अंध विश्वास होता है.आप सोच रहे होगे ये भारत में होगा तो आप ग़लत सोच रहे है अपितु भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया ने है.आप चाहे बरबुंडा ट्रिगल की बात कर लीजिए या 13 नंबर बेड की पूरी दुनिया के विकसित देश भी अंध विश्वास से दूर नहीं है.अपितु विकसित देशों में बढ़ते वैज्ञानिक सोच और पुरानी धारणाओं के बीच संघर्ष परस्पर जारी है.आज दुनिया में भूत प्रेत या आत्मा को लेकर चर्चा होती रहती है कुछ लोग इसका समर्थन में अपने तर्क देते है कुछ इसके विरोध में तर्क देते है.लेकिन विज्ञान उसे नहीं मानती है.आज आपको एक ऐसा ही मामला बताने जा रहे है जो वो यूरोपीय देश यार्कशायर की है.वहां एक अजीबोगरीब मामला पेश आया वहा एक घर को सभी लोग श्रापित घर कह रहे है.कोई भी उसे खरीदने को तैयार नहीं है.

कहा जा रहा है यह एक विधवा ने अपनी जान खत्म कर दी थी करीब 17 साल पहले जब से ये घर सुनसान पड़ा है.इसमें कोई आता जाता नहीं है.अब आप सोच रहे होगे विकसित देशों में श्रापित अंधविश्वास मानते है.आप सही सोच रहे है आज भी लोग उसको मानते है चाहे विज्ञान ने कितनी विकास कर लिया हो.इस घर के बारे में सोशल मीडिया पर एक यूजर ने शेयर किया था और कहा था श्रापित घर बिकाऊ है.आपको जानकारी दे दे इस घर के मालिक एक व्यक्ति है जिनकी माता ने 17 साल पहले इसी घर में पिता की मौत के गम में दे दी थी.उनका कहना है कि में बाहर रहता हूं घर मेरे उपयोग में नहीं आता है इसलिए इसे बेच रहा हूं मै.लेकिन मुझे ताज्जुब है घर को कोई खरीदने को तैयार नहीं है.शेयर की तस्वीर में साफ तौर पर नजर आ रहा है कि 17 साल पहले जैसे सब था वैसा ही लेकिन उन पर मिट्टी को मोटी चादर आ गई है.आस पास के लोगो का कहना है कि ये श्रापित घर है इसमें एक विधवा मौत हुए थी.अगर कोई इसमें आकर निवास करता है तो उसकी जिंदगी में से खुशियां छीन जाएगी.लोगो ने इस घर की तस्वीरे वायरल करते हुए नकारात्मक टिप्पणियां दी और खरीदने पर दिलचस्पी नहीं दिखाई थी.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *