Breaking News
Home / खबर / अपने ही बच्चों और पत्नी की हत्या करने के बाद शव बेसमेंट में गाढ़ा खुदाई करने पर मिली हड्डियां…..

अपने ही बच्चों और पत्नी की हत्या करने के बाद शव बेसमेंट में गाढ़ा खुदाई करने पर मिली हड्डियां…..

इस संसार में यूं तो कभी कभी अजनबी भी इस तरह से अपने बन जाते हैं कि उन्हें देखकर एहसास नहीं होता अपने और पराए का, लेकिन कभी-कभी एक करीबी रिश्ता भी इतना खोखला हो जाता है कि रिश्तो से विश्वास ही उठ जाए.हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसे ही परिवार की जिसे सुनने के बाद आप की भी रूह कांप जाए.और उस सबसे ज्यादा कीमती और खास रिश्ते में इतना बड़ा धोखा मिले तो सच में इंसान हैरान रह जाए. यही सोचे कि इस संसार में इंसानों की जगह हैवान भी रहते हैं. शादी का रिश्ता सबसे ज्यादा खास रिश्ता होता है शादी के बाद दो लोगों से मिलने से एक परिवार बनता है और उस परिवार में पति पत्नी बच्चे सभी की अपनी खास जगह होती है. लेकिन कभी-कभी कुछ लोग  हेवानियत की हदें पार कर जाते हैं कि इतने अहम और खास रिश्ते से भी विश्वास डगमगा जाए.आज हम आपसे ऐसे ही एक मामले के बारे में बात करने जा रहे हैं जहाँ एक पति ने अपनी ही पत्नी और दो बच्चों की निर्मम हत्या कर दी. यह मामला वर्ष 2018 में हुआ था इसका अब पूरा सच सामने आ गया है 3 साल बाद इस कतल का आरोपी पकड़ा गया है अमर उजाला की खबर के अनुसार वर्ष 2018 में ग्रेटर नोएडा में रह रहे राकेश नाम के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी रत्नेश और अपने दो बच्चों अर्पित और अवनी की हत्या कर कर उनका शव अपने ही फ्लैट के बेसमेंट में गड्ढा खोदकर दबा दिया था. इतना ही नहीं राकेश ने एक और व्यक्ति की भी हत्या करके उसका शव कासगंज मथुरा रेलवे लाइन पर फेंक दिया था जिससे उस शव को बरामद करने पर पुलिस को कि यह आत्महत्या का मामला है. रेलवे लाइन पर मिले शख्स की शव की पहचान राकेश के रूप में कर ली गई थी.लेकिन 3 साल बाद अब जाकर इस पूरे मामले का सच सामने आ गया है मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. खबरों के अनुसार राकेश नाम का यह व्यक्ति मूल रूप से अलीगढ़ के नौगांव  गंगिरी का रहने वाला है. लेकिन वह कोतवाली क्षेत्र के पंच विहार कॉलोनी में अपनी पत्नी और बच्चों के साथ रहता था. खबरों के अनुसार 14 फरवरी 2018 के दिन राकेश ने अपनी पत्नी और दोनों बच्चों की निर्मम हत्या कर दी थी.हत्या करने के पीछे राकेश का प्रेम प्रसंग का मामला बताया जाता है. राकेश एक महिला सिपाही से प्रेम करता था जिसके कारण ही उसने अपनी पत्नी और बच्चों की हत्या कर दी.बताया जा रहा है कि वारदात के बाद राकेश के ससुर मोतीलाल ने बरसत कोतवाली में तुरंत शिकायत दर्ज करवाई थी इसी बीच 25 अप्रैल 2018 को कासगंज मथुरा की रेल लाइन पर एक शव भी बरामद किया गया था जिसके सिर और दोनों हाथ कटे हुए थे.शव की जेब में से राकेश के नाम की एक रसीद मिली थी जिसके आधार पर मान लिया गया था.  यह शव राकेश का ही है राकेश अपनी पत्नी और बच्चों को ढूंढने के लिए अपने नौगांवा निवासी राजेंद्र के साथ निकला था.शव बरामद होने के बाद राकेश और राजेंद्र दोनों के परिजनों ने इसे अपना अपना बताया.लेकिन शव के जेब में से निकली रसीद के आधार पर शव को राकेश का मान लिया गया था. लेकिन वह चौथा शव किसका था. इस बात की कोई भी अधिकारीक जानकारी नहीं है. कोतवाली की पुलिस ने पंच  विहार कालोनी राकेश के निवास स्थान पर पहुंचकर जब खुदाई की तो उसमें से राकेश की पत्नी और बच्चों की हड्डियां मिली जिन्हें फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है. राकेश एक महिला पुलिसकर्मी के प्रेम में था इसलिए उसने इतना बड़ा कदम उठाया.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *