Breaking News
Home / बॉलीवुड / फिल्म ‘शोले’ के 46 साल पूरा होने पर धर्मेंद्र बोले- इस शानदार टीम में मैं इकलौता बुरा एक्टर था

फिल्म ‘शोले’ के 46 साल पूरा होने पर धर्मेंद्र बोले- इस शानदार टीम में मैं इकलौता बुरा एक्टर था

बॉलीवुड के जाने माने निदेशक रमेश सिप्पी ने कई फिल्मों का निर्माण किया, पर उस दौर में एक ऐसी फिल्म भी बनाई जो आज भी लोगों का भरपूर मनोरंजन करती है. इस बेहतरीन फिल्म का नाम है शोले. इस फिल्म का हर किरदार, हर सीन, हर एक डॉयलॉग्स आज भी दर्शकों का दिल जीत लेता है. 80 के दशक की सबसे सुपरहिट फिल्म ‘शोले’ के आज 46 साल पूरे हो गए हैं. ये फिल्म आज भी देखना दर्शक बहुत ही पसंद करते हैं. इस फिल्म का हर किरदार खुद में ही एक मिसाल है.

शोले के 46 साल पूरे होने पर इस फिल्म के निर्देशक रमेश सिप्पी ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर एक पुरानी तस्वीर शेयर की. इस तस्वीर में अमिताभ, धर्मेंद्र सहित फिल्म से जुड़े कई कलाकार नजर आ रहे हैं. उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा, “फिल्म ने 46 साल पूरे कर लिए हैं. यकीन नहीं होता कि समय इतनी तेजी से बीत रहा है. इन सभी स्टार्स के साथ काम करने का अनुभव बेहद शानदार रहा. सभी को बहुत बहुत बधाई.”

जैसे ही फ़िल्म के अभिनेता धर्मेंद्र ने इसे पढ़ा, तो उन्होंने तुरंत जवाब देते हुए अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर लिखा, “फिल्म के 46 साल पूरे होने पर आपको बहुत बहुत बधाई रमेश. वो आप ही थे जिन्होंने इस फिल्म को यादगार बनाया. मेरे ख्याल से इस शानदार टीम में मैं इकलौता बुरा एक्टर था. मेरे लिए यह फिल्म सिर्फ एक पिकनिक थी. हालांकि, मैंने इस फिल्म को खूब एन्जॉय किया.”

रमेश सिप्पी के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने कई रिकॉर्डस अपने नाम किए. बॉक्स ऑफिस पर इस फिल्म ने बहुत ही अच्छी कमाई की. इस फिल्म में ‘जय-वीरू’ की दोस्ती हो या फिर ‘बसंती’ का अंदाज आज भी लोग बहुत याद करते हैं. फिल्म में धर्मेंद्र, अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी, संजीव कुमार, अमजद खान और जया बच्चन जैसे कई दिग्गज कलाकारों ने काम किया. फिल्म में हर एक किरदार को दर्शकों द्वारा खूब सराहा गया.

शोले के सिर्फ किरदार ही यादगार नहीं हैं बल्कि इस फिल्म का हर एक डायलॉग आज भी लोगों की जुबान पर है. फिल्म में चाहे वीरू का मौसी डायलॉग हो या फिर ‘बसंती इन कुत्तों के सामने मत नाचना’ अमजद खान का ‘कितने आदमी थे’ सहित फिल्म के ऐसे कई डायलॉग हैं जो आज भी याद किए जाते हैं.शोले भारत की सफलतम फिल्मों में से एक है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर पैसों की बरसात कर दी थी. फ़िल्म का लोगो पर खुमार इतना चढ़ा की गली-गली में फिल्म के संवाद गूंजे. पक्के दोस्तों को जय-वीरू कहा जाने लगा तो बक-बक करने वाली लड़कियों को बसंती की उपमा दी जाने लगी. मांओं ने अपने छोटे बच्चों को गब्बर का डर दिखाकर सुलाया. भारत के कोने-कोने में इस फिल्म का गहरा असर हुआ।.38 वर्ष बाद इस फिल्म को थ्री डी में परिवर्तित कर फिर रिलीज किया गया था.15 अगस्त 1975 को रिलीज हुई ‘शोले’ को 46 वर्ष हो रहे हैं.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *