Breaking News
Home / खबर / रिटायर्ड मेजर की बात पर हंसने लगे पाकिस्तानी पैनलिस्ट तो याद दिला दिया 1971 का युद्ध

रिटायर्ड मेजर की बात पर हंसने लगे पाकिस्तानी पैनलिस्ट तो याद दिला दिया 1971 का युद्ध

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान और भारत के संबंध ज्यादा अच्छे नहीं है ।पड़ोसी मुल्क के आतंकवादियों एवं कुछ नापाक आतंकवादी संगठनों द्वारा भारत में घुसपैठ करने की कोशिश की जाती रहती है ।इसी के चलते आजकल पड़ोसी मुल्क द्वारा भारत देश में घुसपैठ करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है ।एक शो के दौरान जब जीडी बक्शी द्वारा यह मुद्दा उठाया गया कि आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जाता है ।जीडी बक्शी की इस बात पर पाकिस्तानी राजनीतिक विश्लेषक तारीक पीरजादा हंसने लगे ।


लेकिन उनका इस तरह से हंसना जीडी बक्शी साहब को बिल्कुल भी उचित नहीं लगा ।उन्होंने उनकी हंसी का जवाब देते हुए कहा कि उन्होंने 1971 का भारत-पाकिस्तान युद्ध देखा है। जीडी बक्शी साहब ने कहा कि हो सकता है पीरजादा साहब ने यह युद्ध किताबों में ही पड़ा हो ।लेकिन हमने यह युद्ध अपनी आंखों से देखा है ।किस तरह पाकिस्तान के युद्ध में दो टुकड़े कर दिए गए थे।


जीडी बक्शी साहब ने यह भी कहा कि हमें रक्षात्मक रवैया छोड़ देना चाहिए और आक्रमक रवैया अपनाना चाहिए। यदि भारत में एक कतरा खून गिरता है, तो पाकिस्तान में भी 100 कतरा खून गिरना चाहिए ।लेकिन इस बात पर भी तारीक पीरजादा साहब हंसने लगे ।उन की हंसी को देखते हुए जीडी बक्शी साहब ने कहा कि चाहे आप कितना भी हंस ले। लेकिन सच्चाई यह है कि हमने पाकिस्तान को हरा दिया था ।आपकी हजारों की संख्या के सैनिकों ने उस वक्त भारतीय सेना के आगे अपने हाथ खड़े कर दिए थे। लेकिन फिर भी पीरजादा साहब की हंसी बरकरार रही ।


इस पर बक्शी साहब ने कहा कि आपकी तबीयत तो ठीक है ।आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। आप बेवजह ही हंसते हैं आपको भी जांच अवश्य करवानी चाहिए। जब इस शो के एंकर ने बक्शी साहब से सवाल किया कि क्या भारत इस तरह के ड्रोन हमलों के लिए तैयार है तब बक्शी साहब ने कहा कि आतंकवादियों द्वारा बहुत ही सोच समझकर इन छोटे ड्रोन का प्रयोग किया जा रहा है। क्योंकि बड़े ड्रोन को तो रडार के द्वारा कैच कर लिया जाता है ।लेकिन यह जो छोटे ड्रोन होते हैं,


आमतौर पर जिनका प्रयोग शादी ब्याह में किया जाता है ।यह प्लास्टिक के बने होते हैंँ जिन्हें रडार द्वारा पकड़ना कठिन होता है आगे जीडी बक्शी साहब ने कहा कि वह हमेशा से यही कहना चाहते हैं “जितना आप सुरक्षा पर खर्च करेंगे उससे अच्छा आप फाइटर जेट लें, ताकि सब पटाखा हमारे दोस्त के सर पर फंट जाए।”

sorce

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *