Breaking News
Home / खबर / नासिक में रियल एस्टेट कारोबारी पर इनकम टैक्स विभाग की कारवाई, 23 करोड़ रुपये नगद जब्त

नासिक में रियल एस्टेट कारोबारी पर इनकम टैक्स विभाग की कारवाई, 23 करोड़ रुपये नगद जब्त

खबरों के अनुसार नासिक में रियल एस्टेट कारोबारी के ठिकानों पर इनकम टैक्स रेट डाली कई जगह छापे मारे.छापे में निजी वॉल्ट से 23 करोड रुपए ज़ब्त किए गए हैं. और 100 करोड़ रुपए की अघोषित आय का भी पता चला है.जैसे कि पता है इनकम टैक्स रेट का जब कहीं पर छापा पड़ता है तो उसमें अच्छे अच्छों के पसीने छूट जाते हैं. हमें अपनी इनकम का बहीखाता सरकार के पूरे ज्ञान कराना जरूरी होता है और इसमें थोड़ी भी हेर फेर की जाए तो वह कानून से नहीं बच सकता. एक ना एक दिन उसके काले कमाई का भंडाफोड़ होता ही है. अब इस इनकम टैक्स रेट में भी सामने आए कई तरह के जाली दस्तावेज हेरफेर के करोड़ रुपए.

इनकम टैक्स में रेट डाली रियल एस्टेट कारोबार से जुड़े कारोबारी जो भूमि एग्रीगेटर रूप में कार्य करता है. उसके कुछ ठिकानो परछापे मारे गए छापे के दौरान संपत्ति के लिए बड़े पैमाने पर नकद लेनदेन के सबूत भी हाथ लगे. इसके अलावा भूमि समझौते नोटरी से जुड़े दस्तावेज और भी कागजात सहित कई आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए गए हैं.

सभी को जप्त कर लिया गया है इन सभी लेनदेन को कंप्यूटर और मोबाइल फोन से निकाले गए डिजिटल सबूतों से मिलाया जा रहा है.इनकम टैक्स के छापे में बहुत ज्यादा नकदी मिली है बेहिसाब मात्रा में.अब तक 23.45 करोड़ रुपए अघोषित नकद जप्त कर लिया गया है एक लॉकर पर निषेधाज्ञा लागू है.


100 करोड़ की अघोषित आय का पता लगा
मुख्य व्यक्तियों ने जिन्होंने अपनी बेहिसाब आय को जमीन के बड़े हिस्से की खरीद के लिए पेश किया था.
उसकी भी तलाशी ली गई है इसमें से ज्यादातर लोग महाराष्ट्र के पीपल गांव बसवंत क्षेत्र में प्याज औरनगदी फसलों के थोक व्यापार में लगे हुए हैं.

 

इन व्यापारियों द्वारा संपत्तियों में निवेश करने के लिए किए गए बड़े नकद लेनदेन के रिकॉर्ड सहित आपत्तिजनक सबूत भी मिले जिसे जप्त कर लिया गया है.तलाशी मेंकई बैंक लॉकर ऊपर  नीशेधागा लगा दी गई है.इनकम टैक्स विभाग को अब तक के तलाशी अभियान में 100 करोड़ रुपए  से ज्यादा का इनकम का पता चला है जबकि यह सभी सबूतों की जान के परखने के साथ इनकम टैक्स विभाग अपनी कार्रवाई आगे जारी रखेंगी.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *