Breaking News
Home / कुछ हटकर / बचपन का प्यार’ सॉन्ग को सहदेव दिर्दो ने बनाया पॉपुलर, क्या आप जानते हैं कौन हैं इसके ओरिजनल लेखक और गायक

बचपन का प्यार’ सॉन्ग को सहदेव दिर्दो ने बनाया पॉपुलर, क्या आप जानते हैं कौन हैं इसके ओरिजनल लेखक और गायक

इंटरनेट पर आजकल एक बच्चा छाया हुआ है। बेहद सामूमियत से ‘बसपन का प्यार’ का गाने वाले इस बच्चे का नाम है सहदेव दिर्दो। छत्तीसगढ़ के सहदेव ने पूरे देश को अपनी दीवाना बनाया हुआ है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से लेकर सुपरस्टर अनुष्का शर्मा तक सभी सहदेव के गीत के कायल हो गए हैं। ये गीत सहदेव ने 2019 में अपने स्कूल में गाया था जिसके उसकी टीचर ने मोबाइल पर रिकॉर्ड किया था और अब वायरल हो गया।

पर क्या आप जानते हैं कि ‘बचपन का प्यार’ गाने का असली सिंगर कौन हैं? दरअसल, इस अपने करियर के बारे में बात करते हुए कमलेश ने कहा- ‘मैं अब तक 6000 से ज़्यादा गाने गा चुका हूं। कई गानों के राइटर और कंपोजर भी वो खुद ही हैं।’ इसके अलावा कमलेश ने सहदेव की भी तारीफ की है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by bachpan ka pyaar (@jaanu_meri_jaaneman)

सहदेव इनदिनों फैन्स के फेवरेट बने हुए हैं। कुछ दिनों पहले ही एक्ट्रेस अनुष्क शर्मा ने सहदेव की तारीफ करते हुए कहा था कि ये गाना पूरे दिन उनके जेहन में घूमता रहता है।

नीले रंग की शर्ट पहने, सहदेव सीधे कैमरे में देखते हैं और गाना गाते हैं। यह वीडियो हाल ही में वायरल हुआ है और यहां तक कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी सहदेव को माला पहनाकर सम्मानित किया था। हालांकि कमलेश से जब पूछा गया कि काफी सारे रैपर अब इस गाने को लेकर अलग अलग रैप बना रहे तो ऐसे में क्या आप इसके कॉपीराइट को लेकर शिकायत दर्ज करेंगे? कमलेश बारोट ने कहा कि इस गाने के सभी कॉपीराइट्स उसने प्रोडक्शन हाउस को दे दिए हैं. वैसे में प्रोडक्शन हाउस ही फैसला करेगा कि उन्हें क्या करना है. लेकिन कमलेश काफी खुश हैं कि आज इतने साल बाद इस बच्चे की बदौलत उनका ये गाना देश और दुनिया में धूम मचा रहा है. वो इस बच्चे को जरुर एक बार मिलना चाहते है.कमलेश खुद गुजरात के आदिवासी लोकगायक के तौर पर काफी प्रख्यात हैं. कमलेश ना सिर्फ आदिवासी लोकगायक के तौर पर बल्कि अब भोजपुरी गाने में भी काफी नाम कमा चुके है.

sorce

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *