Breaking News
Home / बॉलीवुड / क्यों बॉलीवुड में इतना जोर चलता है करण जोहर का, जाने क्या है राज़?

क्यों बॉलीवुड में इतना जोर चलता है करण जोहर का, जाने क्या है राज़?

करण जौहर के पिता यश जौहर का जन्म 6 सितंबर 1929 को लाहौर में हुआ था.न बंटवारे के बाद यश जौहर का परिवार दिल्ली आकर बस गया.दिल्ली आकर यश जौहर के पिता ने ‘नानकिंग स्वीट्स’ नाम की मिठाई की दुकान शुरू की.यश के 9 भाई बहन थे जिसमें से यश सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे थे और इसी वजह से उनके पिता ने उन्हें दुकान पर हिसाब किताब करने के लिए बैठा दिया.हालांकि यश ये काम बिल्कुल भी नहीं करना चाहते थे.यश की मां इस बात को समझती थीं कि उनका बेटा मिठाई की दुनाक पर काम नहीं करना चाहता.इसी लिए मां ने यश का साथ दिया और यश जौहर से कहा कि ‘तुम मुंबई चले जाओ तुम मिठाई की दुकान संभालने के लिए नहीं बने हो.इतना ही नहीं यश की मां ने उन्हें मुंबई भेजने के लिए घर से पैसे और गहने तक गायब कर दिए.जिसकी वजह से सिक्योरिटीवाले पर शक किया गया उसकी पिटाई भी हुई.

मां के कहने पर यश मुंबई तो आ गए लेकिन वहां पहुंचकर आगे की जिन्दगी आसान नहीं थी.इस मुकाम तक पहुंचने के लिए उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा.मुंबई पहुंचकर यश टाइम्स ऑफ इंडिया के न्यूज पेपर में फोटोग्राफर बनने की कोशिश कर रहे थे.उसी दौरान बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर के. आसिफ अपनी फिल्म ‘मुगल-ए-आजम’ की शूटिंग कर रहे थे.शूटिंग के समय यश ने मधुबाला की कुछ तस्वीरें खींची थी.मधुबाला के बारे में ये कहा जाता था कि वो किसी को भी अपनी तस्वीर खींचने नहीं देती थीं.लेकिन यश जौहर की किस्मत उन्हें कहीं और ही लेजाना चाहती थी, उस दौर में यश काफी अच्छी अंग्रेजी बोल लेते थे जिससे इम्प्रेस होकर मधुबाला ने उन्हें अपनी तस्वीर लेने की इजाजत दे दी। इतना ही नहीं मधुबाला यश जौहर से इतनी इम्प्रेस हो गईं कि उनके साथ वो गार्डन भी घूम आईं.उसके बाद जब यश मधुबाला की फोटो खींचकर टाइम्स ऑफ इंडिया के ऑफिस पहुंचे तो उन्हें तुरंत नौकरी मिल गई.

इसके अलावा यश जौहर हमेशा से ही भगवान में बहुत आस्था रखते थे.उनकी आदत थी कि वो सुबह-सुबह नहा-धोकर करीब 3 मिनट तक प्रार्थना करते थे.उन्होंने अपने घर में ही एक छोटा सा मंदिर बनाया हुआ था.यश की इसी आस्था की छाप उनके फिल्मों में भी दिखाई देती है.बतौर प्रड्यूसर यश जौहर ने दोस्ताना’ फिल्म बनाई थी जिसमें अमिताभ बच्चन और शत्रुघ्न सिन्हा दिखाई दिए थे.ये फिल्म तो हिट रही लेकिन इसके बाद उनकी फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं दिखाया.इसीलिए उन्होंने फिल्म प्रोड्यूस करने के साथ-साथ इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट का बिजनेस भी किया.उन्होंने कई फिल्मों को देवानंदके प्रोडक्शन हाउस के साथ जुड़कर को-प्रड्यूस भी किया था.जिनमे ज्वेलथीफ, प्रेम पुजारी, हरे रामा हरे कृष्णा जैसी शानदार फिल्में शामिल थी. बाद में साल 1977 में यश जौहर ने अपनी खुद की प्रोडक्शन कंपनी धर्मा प्रोडक्शन शुरू की.जिसे उनके बेटे करण जौहर ने बखूबी संभाला हुआ है.

सुपर हिट डायरेक्टर की कुल नेटवर्थ 200 मिलियन यूएसडी है,जो कि भारतीय मुद्रा में 1400 करोड़ रुपए है,जो कि बहुत बड़ी रकम है.साथ ही करण देश के सबसे अधिक भुगतान पाने वाले निर्देशकों में से एक हैं और उनके निर्देशन के लिए एक ही फिल्म के लगभग 2 – 3 करोड़ लेते हैं.पिछले कुछ वर्षों में श्री जौहर की कुल संपत्ति में 80% की वृद्धि हुई है, जो कि बहुत ही आश्चर्यजनक है.करण जौहर फिल्म इंडस्ट्री के सबसे ज्यादा टैक्स देने वालों में से एक हैं.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *