Breaking News
Home / कुछ हटकर / लद्दाख का अद्भुत इलाका, जहां बंद गाड़ियां खुद चलने लगती हैं ऊपर की ओर, नहीं चाहिए इंधन…

लद्दाख का अद्भुत इलाका, जहां बंद गाड़ियां खुद चलने लगती हैं ऊपर की ओर, नहीं चाहिए इंधन…

दोस्तों कई बार कुछ ऐसी बाते सुनने में आती है,जिनको सुनकर विशवास नहीं होता है,आज हम आपको एक ऐसी ही सच्चाई बताने जा रहे है,जिसके बारे में जानना रोमांचक होगा । भारत में एक ऐसी पहाड़ी है, जहां नीचे की ओर लुढ़कने के बजाय, चीजें वास्तव में ऊपर की ओर जाने लगती है? यहां तक कि कोई बंद खड़ी गाड़ी भी अपने आप ही ऊपर की ओर चढ़ने लगती है.इसपर यक़ीन करना मुश्किल है,पर ये सच है .

दोस्तों भारत में कुछ ऐसी अजीबो-गरीब जगहें हैं जहां पर ग्रैविटी फोर्स के सभी नियम ना के बराबर रह जाता हैं. इन जगहों पर सबसे आश्चर्यजनक बात यह होती है कि यहां बंद खड़ी गाड़ी भी खुद-ब-खुद ढलान से ऊपर की दिशा में 20 किमी की रफ्तार से चलना शुरू कर देती हैं. गाड़ी को अपने-आप चलता हुआ देखना अपनेआप में काफी आचर्यजनक है,पर ये कोई जादू नहीं है, ऐसा वहां स्थित मैग्नेटिक हिल्स या ग्रैविटी हिल्स की वजह से होता है । इस हिल पर आनेवाली गाड़ियो के अलावा हिल्स के ऊपर से गुजरने वाले हवाईजहाज और एयरक्राफ्ट्स में भी तकनीकी गड़बड़ियां होना शुरू हो जाती हैं. इस वजह से इस इलाके के ऊपर से गुजरने वाले विमान काफी ते गति से निकलते हैं ।

वैज्ञानिक कारण-मैग्नेटिक या ग्रैविटी हिल्स, को लेकर कई साइंटिफिक कारण दिए जाते हैं जैसे यह एक ऐसा क्षेत्र है जहां का वातावरण और पहाड़ी ढाल की संरचना दोनों जब मिल जाती है तो दृष्टि भ्रम उत्पन्न हो जाता है. इसके मुताबिक इस हिल का जो सबसे नीचे वाला हिस्सा है वो दरअसल इसका सबसे ऊपर वाला हिस्सा है. वहीं जिसे हम सबसे ऊपरी हिस्सा समझते हैं वह असलियत में मैग्नेटिक हिल का सबसे निचला भाग होता है. इसी कारण जब गाड़ियों को यहां बंद अवस्था में छोड़ दिया जाता है तो वे हमें ऊपर की तरफ जाती हुई दिखाई देती है ।

 

मान्यता-लद्दाख के ग्रामीणों का मानना ​​है कि यह सड़क कभी स्वर्ग जाती थी. जो लोग योग्य होते थे उन्हें यह सड़क खुद अपनी और खींच ले जाती थी और जो लोग अवांछनीय थे, वे कभी भी इसका रास्ता नहीं खोज सके. जो भी हो लेकिन फिलहाल इस पहाड़ी का रहस्य अनसुलझा ही है ।

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *