Breaking News
Home / कुछ हटकर / प्रेमिका संग रंग रेलिया मानाने के लिए पुरे गाँव की लाइट काट देता था बिजली मिस्त्री ,अंधेरे में पकडे गए दोनों

प्रेमिका संग रंग रेलिया मानाने के लिए पुरे गाँव की लाइट काट देता था बिजली मिस्त्री ,अंधेरे में पकडे गए दोनों

उत्तर प्रदेश के पुर्णिया जिले के नगर थाना क्षेत्र से अजीबोगरीब खबर सामने आ रही है.खबर ऐसी है जिसे सुनकर आपको हंसी भी आएगी और गुस्सा भी.खबरों के अनुसार जिले के ही स्थानीय आदिवासी गनेशपुर डहरिया के लोग लगातार बिजली कटौती मिचौली से परेशान थे.भीषण गर्मी में लोग इसको लेकर सरकार को कोस रहे थे.हर 2-3 दिन में गाँव की बिजली 2 से 3 घंटे के लिए गायब हो जाया करती थी, जबकि इसके आसपास के गाँव मे बिजली रहती थी.वहीं बिजली कटने की वजह जब लोगो को पता चला तो सभी हैरान रह गए.

 

दरअसल परोरा गाँव का रहने वाला बिजली मिस्त्री सुरेंद्र राय का प्रेम प्रसंग आदिवासी जमाई टोला के आदिवासी युवती से था. बिजली मिस्त्री को जब भी युवती से मिलने का मन होता था.वो पूरे गांव की बिजली काट देता था.फिर अंधेरे का फायदा उठाकर दोनो रंगरेलिया मनाते थे.इस बात की भनक युवती के पड़ोसी को लग गई.फिर जैसे ही गांव की बिजली कटी लोगो को पता चल गया कि दोनों फिर से मिलने वाले है.

 

गांव वालों ने दोनों को रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई.इधर बिजली कटने पर युवती भी अपने आशिक का सिग्नल मिलते ही तैयार थी.जैसे ही बिजली मिस्त्री युवती के घर मे घुसा ग्रामीणों ने रंगे हाथ दोनो को पकड़ लिया.जिसके बाद ग्रामीणों ने दोनों का सर मुड़वाकर और जूता चप्पल का माला पहनाकर गाँव मे घुमाया.

 

ग्रामीणों का कहना था कि दोनों को पूरे गांव घुमाने का उद्देश्य यही था कि इसके बाद कोई गांव मे इस तरह की गलती न करे.बाद में गाँव के मरर राम मुर्मू के निर्देश पर दोनों की आदिवासी रीतिरिवाज से शादी कर दी गई.शादी करवाने के बाद युवती को टेंपो में बैठाकर प्रेमी बिजली मिस्त्री सुरेंद्र राय के घर परोरा भेज दिया गया। इधर दूसरी लड़की के घर पहुँचने पर बिजली मिस्त्री के घर अलग से बवाल खड़ा हो गया, क्योंकि बिजली मिस्त्री सुरेंद्र राय पहले से शादीशुदा था.वैसे इस घटना का अभी तक किसी भी थानाक्षेत्र में शिकायत नही की गई है लेकिन जो भी इसके बारे में सुन रहा है उसे हैरानी के साथ साथ हंसी जरूर आ रही है.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *