Breaking News
Home / खास / भारत के हिंदू राष्ट्र न बनने पर दो अक्टूबर को जल समाधि लेने की बात करने वाले आचार्य ने क्या किया?

भारत के हिंदू राष्ट्र न बनने पर दो अक्टूबर को जल समाधि लेने की बात करने वाले आचार्य ने क्या किया?

भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित करने की मुहीम तेज होती जा रही है.हिन्दू राष्ट्र की मांग अब तूल पकड़ती दिख रही है.हिंदू राष्ट्र घोषणा को लेकर संत समाज आंदोलित होता दिख रहा है.संत समुदाय के अग्रणी व्यक्तित्व जगदगुरु परमहंस आचार्य महाराज ने चेतावनी दी है कि आगामी 2 अक्टूबर तक अगर भारत को ‘हिंदू राष्ट्र’ घोषित नहीं किया गया, तो वह जल समाधि ले लेंगे. यही नहीं, आचार्य ने मुस्लिमों और ईसाइयों की राष्ट्रीयता खत्म किए जाने की मांग भी उठा दी है.

उन्होंने सीधे केंद्र सरकार से ये मांगें करते हुए चेतावनी दी है.जबकि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में अगले साल की शुरुआत में चुनाव होने हैं और अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का काम तेज़ी से चल रहा है,ऐसे में इस तरह का बयान काफी अहम माना जा रहा है.ये बयान ऐसे समय में आया है जब उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारियां जोरों पर है.सभी पार्टियों के नेता चुनाव की तैयारियों में जुटे हैं.

अयोध्या की तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास की भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग को लेकर जलसमाधि लेने धमकी कारगर साबित नहीं हुई.प्रशासन ने उनके आश्रम के बाहर पुलिस फोर्स तैनात कर उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया है.आश्रम पर बड़ी संख्या में फोर्स तैनात हैं जो पालियों में ड्यूटी दे रहे हैं.जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज ने कहा था क‍ि मेरी मांग है कि 2 अक्टूबर तक भारत को ‘हिंदू राष्ट्र’ घोषित कर दिया जाए वरना सरयू नदी में जल समाधि ले लूंगा.

हाउस अरेस्ट होने पर महंत परमहंसदास ने कहा कि मेरे लिए रोज 2 अक्टूबर है.मैं किसी भी दिन अपनी घोषणा को अंजाम दे सकता हूं.हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग को लेकर मेरा आंदोलन जारी रहेगा.सुबह उनके आश्रम पर पहुंचे उनके कुछ समर्थकों ने जयश्री राम के नारे लगाए.

गांधी जयंती के अवसर पर जल समाधि लेने की घोषणा को लेकर प्रशासन अलर्ट रहा.शुक्रवार की शाम से ही उनके आश्रम पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई और महंत की गतिविधियों पर नज़र रखी गई.सीओ अयोध्या के मुताबिक, जिला प्रशासन और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर परमहंस को हाउस अरेस्ट कर दिया गया है.भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए परमहंस ने दो अक्टूबर को जल समाधि लेने की घोषणा की थी.

महंत परमहंस दास मीडिया की सुर्खियां में बने रहने के लिए सनसनीखेज बयान देते रहते हैं.कई बार उन्होंने अपनी मांगों को लेकर लंबे समय तक अनशन व अनेक अनुष्ठान भी कर चुके हैं.महंत नृत्य गोपाल दास के खिलाफ बयान देकर भी वे एक बार चर्चा में आए थे.परमहंस दास के इस ऐलान के समर्थन में अयोध्या के बड़े संत ,सत्ता व विपक्षी दलों के कोई नेता भी मौके नहीं पहुंचे.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *