Breaking News
Home / खबर / राजघराने की इस लड़की को ड्राइवर के बेटे से हुआ प्यार, मुश्किलों में हुई शादी… सालों बाद अब…

राजघराने की इस लड़की को ड्राइवर के बेटे से हुआ प्यार, मुश्किलों में हुई शादी… सालों बाद अब…

‘प्यार में सब जायज होता है’ काफी इसी बात की सिद्ध कर दिया था जयपुर की रहने वाली राजपरिवार की राजकुमारी दीया कुमारी ने. जी हां.जिसने अपना दिल अपने ही ड्राइवर के बेटे को दे दिया.लेकिन दीया कुमारी अब शादी के इतने सालो बाद उसे तलाक देने जा रही है. दीया कुमारी ने फैमिली कोर्ट में भी अर्जी दाखिल कर दी है जिसमें खुद उन्होंने और उनके पति नरेंद्र ने बयान दिया है कि यह उनका पर्सनल मामला है और इस मामले में मीडिया को कोई दखल देने की कोई जरूरत नहीं है. वहीं इस फैसले के अलावा दिया और उनके पति ने कुछ भी बताने से साफ इंकार कर दिया है.लेकिन इस राजघराने की इस लड़की को ड्राइवर के बेटे से कैसे हुआ प्यार था ये बात हजम नहीं होती.तो चलिए जानते है इस प्रेमी कहानी के बारे में विस्तार से…..

राजघराने की इस लड़की को काफी अपने ड्राइवर के बेटे से ही प्यार हो गया था. इन्होने अमीरी और गरीबी की इस दिवार को लाँघ कर 21 साल पहले ड्राइवर के बेटे से प्यार किया और फिर इसके बाद दोनों ने तमाम मुश्किलों का सामना करते हुए शादी भी कर ली थी. लेकिन अब ये इतने सालों के बाद यदि ये तलाक लेना चाहते हैं तो इसके पीछे भी जरुरी कुछ न कुछ बात ही रही होगी. दरअसल हम जिस राजकुमारी के बारे में बात कर रहे है उनका नाम दीया कुमारी है और दीया जयपुर के एक बड़े राजघराने से ताल्लुख रखती हैं, वही ये मौजूदा समय में सवाई माधोपुर से भाजपा की विधायक भी हैं.

 

दीया कुमारी भी उम्र अब करीब 47 साल हो चुकी है और ये जयपुर घराने के राजा भवानी सिंह और पद्मिनी देवी की एकलौती संतान हैं. उनके पिता ब्रिगेडियर भी रह चुके हैं. अब ऐसे में उन्होंने अपनी लाडली को शुरू से ही सारे ऐश और आराम दिए हैं. और दीया की हर इच्छा बचपन से ही पूरी की गई लेकिन जब उन्हें प्यार हुआ तो कुछ आपत्ति जताने के बावजूद भी उनके माता-पिता ने दीया की शादी नरेंद्र से करा दी लेकिन समाज में उनकी इस बात को लेकर खूब किरकिरी भी हुई.

दीया की पढ़ाई जयपुर, दिल्ली और लंदन में हुई थी.वही इनकी शादी के बाद नरेंद्र और दीया को दो बेटे पद्मनाभ सिंह, लक्ष्यराज सिंह हुए और एक बेटी जिसका नाम गौरवी है. बता दे की दीया इस समय विधायक भी हैं लेकिन इस बार उन्हें चुनाव में टिकट नहीं मिल पाया. वही दीया अब अपनी पारिवारिक विरासत सिटी पैलेस और जयगढ़ किला सहित दूसरी ऐतिहासिक इमारतों को संभालने का काम करती हैं. बता दे की दीया की शादी साल 1997 में ही हुई थी और एक ब्लॉग के जरिए भी उन्होंने अपनी प्रेम कहानी दुनिया को बताई थी.

नरेंद्र और दिया की पहली मुलाकात साल 1989 में हुई थी.तब दिया कुल 18 साल की थी. वही उस समय नरेंद्र ग्रेजुएशन करने के बाद सीए की तैयारी कर रहे थे और उस समय एमएमएस संग्राहालय ट्रस्ट में भी ट्रेनिंग के लिए अकाउंट ज्वाइन किया था. वही इस काम में दीया भी नरेंद्र की मदद कर देती थी और इसी दौरान इन दोनों के बीच नज्दिकिया बढ़ने लगी थी.दीया ने अपने ब्लॉग में भी बताया था की उन्हें नरेंद्र की लगन और ईमानदारी बहुत पसंद आई थी. वही उनका कैयरिंग नेचर भी उन्हें बहुत लुभाता था और फिट क्या था दीया इतने में अपना दिल नरेंद्र पर हार चुकी थीं. इसके बाद किसी तरह इनकी शादी भी हो.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *