Breaking News
Home / खबर / शक़्स ने 2100 में जो चीज खरीदी वह 360 करोड़ की निकली

शक़्स ने 2100 में जो चीज खरीदी वह 360 करोड़ की निकली

जब किस्मत रंग दिखाती है तो किसी ने जो ना सोचा हो वह भी हो जाता है.किस्मत में जो लिखा है वह मिलकर ही रहता है अब एक आज हम आपसे एक ऐसा मामला साझा करने वाले है आप भी हैरान हो जाएंगे.आपको बता दें अमेरिका का एक व्यक्ति सिर्फ ₹2100 में एक आर्ट वर्क यानी कि एक्सपेंसिव आर्ट वर्क (expensive Art work )खरीद कर घर ले आया लेकिन जब उसे इस आर्ट वर्क की सच्चाई पता चली उसकी असल कीमत पता चली तो उसके होश उड़ गए.

इस व्यक्ति ने एक झटके में ही काफी रुपया कमा लिया वह अरबपति बन गया. यह स्केच अपनी कीमत से कई गुना ज्यादा कीमती था. आइए आपको बताएं क्या था यह पूरा मामला “मिरऱ यूके की रिपोर्ट के अनुसार उस व्यक्ति ने अपना नाम गोपनीय रखा है. (Massachusetts )का रहने वाला है. यह व्यक्ति हाल ही में आर्ट वर्क सेल से यूं ही एक मां बच्चे की तस्वीर को खरीदा था.

जिसके चलते मशहूर आर्ट वर्क का रिप्लिका लगा जिसे उसने सिर्फ ₹2100 देकर खरीद लिया.लेकिन जब शख्स ने इस आर्ट वर्क को खरीदा था उसे बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था यह कितना कीमती है.यह भी नहीं पता था कि यह कई सदियों पुराना है और बिल्कुल असली है.पीले रंग के लेनिन कपड़े पर बनी इस स्केच को 15 वी शताब्दी में बनाया गया था. इसे दुनिया के मशहूर मोनोग्राम्स Albrecht Durer ने बनाया था एक रिपोर्ट के मुताबिक ये पुनर्जागरण काल के जर्मन आर्टिस्ट का ओरिजिनल आर्टवर्क है. जिससे अमेरिकी शख्स ने ₹21000 में खरीदा है.इस आर्ट वर्क की स्टडी करने के बाद इसकी कीमत 368 लगाई गई है.

 

इस स्केच को देखकर आर्ट वर्क एक्सपर्ट हैरान हैं. उनका कहना था कि आखिर इतनी कम कीमत में स्केच कैसे उस व्यक्ति के हाथ लग गया.उसे बेचने वाले भी अनजान रहे. इससे पहले स्केच को मैसाचुसेट्स में 2016 में दिवंगत वास्तुकार जीन पाल कार्लहियन के परिवार ने बेचा था.

एक कला संग्रहकर्ता फिलफोर्ड शोरर ने कहा, कि एक अविश्वसनीय क्षण था जब मैंने Albrecht Durer की कलाकृति देखि एक उत्कृष्ट कलाकृति देखी थी.शोरर ने बताया कि Durer पुनर्जागरण आंदोलन के एक जर्मनी चित्रकार हैं. जिन्होंने अपने उच्च गुणवत्ता वाले वुडकट प्रिंट के कारण पूरे यूरोप में अपने प्रतिष्ठान और प्रभाव स्थापित किया वो लियोनार्डो द विंची सहितअपने समय के प्रमुख को इतालवी कलाकारों के संपर्क में थे.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *