Breaking News
Home / कुछ हटकर / मिस्र में 2300 साल पुराने शापित ताबूत से मिला रहस्यमय जूस, 36 हज़ार लोग कर रहे पीने की मांग……

मिस्र में 2300 साल पुराने शापित ताबूत से मिला रहस्यमय जूस, 36 हज़ार लोग कर रहे पीने की मांग……

आज हम आपको प्राचीन मिस्र के मकबरे से मिले ताबूत से मिले जूस के विषय में बताने जा रहे हैं, आपको बता दें प्राचीन मिस्र के प्राचीन पिरामिडो के देश से 2 वर्ष पूर्व रहस्समय जूस मिला था. आपको बता दें यह जूस 2300 वर्ष पुराने एक काले रंग के ताबूत में रखा मिला. और यह खबर मिश्रण में आग की तरह फैल गई.यह खबर सुनने के पश्चात में शुरू के 36000 लोग इस जूस को पीने के लिए उतारू हैं.आपको बता दें खबर के मुताबिक उत्तरी अलेक्जेंड्रिया इलाके में पुरातात्विक कार्य कर रहे थे.तभी उन को एक दस फीट ऊंचा मकबरा दिखाएं दिया उसी मकबरे में यह ताबूत दफन था इसी ताबूत के अंदर से यह जूस रखा मिला.

आपको बता दें इस ताबूत से मम्मी निकली जो 305 ईसा पूर्व से 30 ईसा पूर्व के बीच शासन करने वाले पटोलामिक काल की है.हां आपको बता दें पुरातात्विको ने जब इस मम्मी को खोला तब उसके अंदर से तीन मानव कंकाल मिले. ऐसा बताया जा रहा है कि यह मानव कंकाल सैनिकों के थे जो कि एक बदबूदार लाल पानी के बीच रखे हुए थे। और जब यह खबर मिस्र के लोगों तक पहुंची तब मिसरवासी इस जूस को पीने की मांग करने लग गए उनका कहना है कि यह जूज़ को पीने की अनुमति दी जाए ताकि इस जुलूस के अंदर अगर कोई दैवी शक्ति है तो वह शक्ति हमको मिल जाएगी.

याचिका पर अब तक 36 हज़ार लोग साइन कर चुके हैं…

आपको बता दें एक यूजर इंनेस मैक तो चेंज डॉट ओआरजी पर याचिका शुरू की है. जिस पर अब तक 36 हज़ार लोग साइन कर चुके है.इन लोगो की मांग है की इस रहस्सयामय जूस को पीने की मांग कर रहे है. और वहा के लोगो ने ये इच्छा भी जताई है के इस जूज़ को पीने की अनुमति डिजाए.और वहा के लोगो का ये भी कहना है इस शपित लाल पानी को पीने को एनर्जी ड्रिंक के रूप मे पीने की अनुमती दि जाए ।ताकि hamre अंदर उस पानी की चमत्कारी शक्ति हमारे अंदर आजाए और हम अनंत मरसके. आपको बतादे वहा के कुछ लोग अपनी सवतंत्रता के अधिकार के से बोलरहे है हमें इस चमत्कारी पानी को पिने दिया जाए.

हम आपको बतादे इननेस ने ये भी कहा इस जूज़ को सीवर का पानी नाह कहे. क्योके हड़फिया मल मूत्र तियाग नहीं करती है.आपको बतादे कुछ लोगो का ये भी कहना है की ये मक़बारा शपित है।और अगर इसको खोला गया तो दुनिया मे प्लेग जैसी महामारी फेलजाएगी. इस बीच मिस्र के पिर्तिष्टित पुरातात्विक मुस्तफा वज़ीरो ने कहा है की हमने इसे खोला है और अल्लाह का शुक्र है दुनिया मे अंधेरा नहीं फेला। और कहा मैंने सबसे पहली इस ताबूत मे अपना सर डाला था और मे अभी भी मई जीवित हु ।

source.https://navbharattimes.indiatimes.com/world/other-countries/egypt-curse-sarcophagus-36000-sign-petition-demanding-to-drink-juice-from-the-tomb/articleshow/80493374.cms

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *