Breaking News
Home / खबर / महाकाल का भक्त है ये मुस्लिम युवक दर्शन करने पंहुचा तो हो गया बवाल ,अब मंदिर समिति ने दी सफाई

महाकाल का भक्त है ये मुस्लिम युवक दर्शन करने पंहुचा तो हो गया बवाल ,अब मंदिर समिति ने दी सफाई

आज हम आपसे बात करने जा रहे हैं महाकाल मंदिर के पुजारी बाबा गुरु ने मंदिर के बारे में चर्चा की है.उन्होंने बताया मुस्लिम भक्त जुनैद इदरीश  महाराष्ट्र के गोंदिया जिले का रहने वाला है वह अपने दोस्तों शमी जायसवाल और श्याम कुमार के साथ कई वर्षों से यहां दर्शन के लिए आ रहा है. लेकिन संतो के विरोध को देखते हुए बाद में मंदिर समिति ने भक्तों का बयान जारी करवाया.


आइए हम आपको बता दें क्या है यह पूरा मामला विवाद को देखने के बाद खराब हालात होते गए उस मुस्लिम व्यक्ति का फोटो सोशल मीडिया पर भी तेजी से वायरल हो गयाm मंदिर समिति को सफाई देनी पड़ी तब जाकर मामला सुलझा.यह एक मुस्लिम युवक था जो टोपी पहनकर महाकाल मंदिर में आया था किसी ने उसका फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया.यह तस्वीर तेज़ी से वायरल हुई और बहुत बड़ा विवाद खड़ा हो गया.युवक महाराष्ट्र से आया था और खुद को महाकाल का भक्त बता रहा था.

महाकाल मंदिर परिसर में धार्मिक टोपी और पहनावे में बहुत ज्यादा युवकों पहनावे में खड़े युवक का फोटो तेजी से वायरल होने के बाद संतों ने उसके मंदिर में प्रवेश पर आपत्ति जताई और इसी बात पर बात बढ़ गई. विवाद बढ़ता देख का मंदिर समिति ने मुस्लिम श्रद्धालु का बयान जारी करवाकर मामले को शांत करवाया.इसके बाद लोगों ने इस पर कड़ी चेतावनी मंदिर समिति को दे दी. महाकाल के पुराने भक्त हैं जुनेद आपकी जानकारी के लिए बता दें. मंदिर के पुजारी बाला गुरु ने बताया इस भक्त का नाम जो नई दिल्ली से एक है.

वह महाराष्ट्र के गोंदिया जिले में रहता है. अपने दोस्तों के साथ दोस्त का नाम शमी जायसवाल और श्याम कुमार के साथ कई वर्षों से यहां दर्शन के लिए आता रहा है. वह मंदिर के सभी नियमों का पालन करता है. दान भी देता है आज भी जुनैद इदरीस मंदिर में अपने साथियों के साथ दर्शन के लिए आया था.

मंदिर प्रबंधन ने बताया कि सभी धर्मों के कई अनुयाई महाकाल के दर्शन के लिए यहां आते हैं बाबा का दरबार सभी के लिए खुला है. कई बार सोशल मीडिया पर शरारती साथ में फोटो और कमेंट करके सामाजिक शांति को भंग करने की कोशिश करते हैं. मंदिर प्रशासक गणेश धाकड़ ने सभी को भगवान महाकाल का दुपट्टा उड़ा कर सम्मानित किया और प्रसाद भेंट किया.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *