Breaking News
Home / बॉलीवुड / मेरे साहेब चले गए, मैं तो भूल भी जाऊंगा शायद, सायरा जी कैसे सहेंगे, इमोशनल हुए नाना पाटेकर..

मेरे साहेब चले गए, मैं तो भूल भी जाऊंगा शायद, सायरा जी कैसे सहेंगे, इमोशनल हुए नाना पाटेकर..

ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार की जाने के बाद पूरी फिल्म इंडस्ट्री निराशा में डूब चुकी है. क्योंकि दिलीप कुमार को ही अभिनय की पाठशाला माना जाता है. उनके अभिनय से लाखों लोग प्रेरित हुए. अभिनेता मनोज कुमार दिलीप कुमार की फिल्मों से बहुत प्रेरित हुए. दिलीप कुमार की फिल्मों को देखकर मनोज कुमार ने भी फिल्म इंडस्ट्री में अपना करियर बनाने का फैसला किया. आपको बता दें मनोज कुमार, दिलीप कुमार की फिल्मों से इतने प्रभावित हुए. कि उन्होंने अपना नाम ही बदल दिया. मनोज कुमार का वास्तविक नाम हरि किशन गिरी गोस्वामी है.


अभिनेता नाना पाटेकर ने भी दिलीप कुमार के दुनिया से अचानक चले जाने पर सोशल मीडिया पर एक बहुत भाव विभोर कर देने वाली पोस्ट लिखी है. फिल्म इंडस्ट्री के ट्रेजरी किंग चले गए, बहुत लोगों ने लिखा है और हमेशा लिखेंगे. लेकिन इस कमी को कोई पूरा नहीं कर पाएगा. उनके बारे में लिखना इतना आसान नहीं है. उनके अभिनय को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता. शब्द भी कम पड़ जाएंगे उनके जीवन को बयान करने में. इस बात का मुझे हमेशा दुख रहेगा.

मैं उनका अंतिम दर्शन नहीं कर पाया. इस बात के लिए मैं जीवन भर अपने आप को माफ नहीं कर पाऊंगा. मैंने अपने भाई के अंतिम दर्शन नहीं किए. नाना पाटेकर को दिलीप कुमार ने पहनाई थी अपनी शर्ट.नाना पाटेकर ने दिलीप कुमार के साथ बिताए गए अपने यादगार लम्हों के बारे में बताया है. उन्होने कहा कि एक बार दिलीप कुमार ने मुझे अपने घर पर बुलाया था. उस समय जोर की बारिश हुई हो रही थी इस वजह से मैं पूरी तरह से भीग गया. सब दिलीप कुमार ने मुझे सर पहुंचने के लिए टॉवल दिया. पर मैं कहां सूखने वाला था.

मेरी आंखें पूरी तरह से नम हो चुकी थी. इस बात को कहते हुए भी मेरा गला भर आया है. दिलीप कुमार अंदर गए और मेरे लिए एक शर्ट लेकर आए. उन्होंने मेरी पीठ के ऊपर हाथ फेरा. एक पल के लिए मुझे ऐसा लगा कि मुझे मेरे बड़े भाई मिल गए हैं. अब जीवन में किसी चीज की कमी नहीं रही. लेकिन उनकी आंखें कुछ बयां कर रही थी. क्रांतिवीर फिल्म की तारीफ करते थक नहीं रहे थे. फिल्म क्रांतिवीर की सफलता की खुशी उनकी आंखों में साफ दिखाई दे रही थी.

उनकी तारीफों से मेरा उत्साह और बढ़ गया. मुझे और काम करने की हिम्मत और प्रेरणा मिली.
आज मेरे बड़े भाई समान दिलीप कुमार को मैं बहुत ही ज्यादा मिस कर रहा हूं. और शायद मैं कुछ ही समय बाद उनको भूल जाऊंगा. लेकिन दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो ने कैसे भूलेंगे. मैं इस बारे में सोचता हूं तो मैं पूरी तरह से निराश हो जाता हूं. सायरा बानो ने दिलीप कुमार को पूरे जीवन साथ दिया है.


सायरा बानो दिलीप कुमार से बहुत प्यार करती है और हमेशा करते रहेंगे. दिलीप कुमार के जाने के बाद सायरा बानो बिल्कुल अकेली हो चुकी है. कौन उन्हें इस मुश्किल हालात में संभालेगा. सिर्फ दिलीप कुमार ही उनकी दुनिया थी.अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने भी दिलीप कुमार की जीवन से जुड़े कुछ किस्से शेयर किए हैं. दिलीप कुमार के अंतिम दर्शन कराने के लिए बॉलीवुड के सभी सेलेब्स पहुंचे. जॉनी लीवर, शाहरुख खान, अनुपम खेर, धर्मेंदर, विद्या बालन आदि.

sorce

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *