Breaking News
Home / खास / नीरज चोपड़ा के जर्मन कोच भी रहे हैं, सुपरस्टार 100 मीटर से ज्यादा दूर तक फेक चुके हैं भला…..

नीरज चोपड़ा के जर्मन कोच भी रहे हैं, सुपरस्टार 100 मीटर से ज्यादा दूर तक फेक चुके हैं भला…..

ओलंपिक में अपना नाम रोशन करने वाले सुवण अक्षरों में अपना नाम अंकित कराने वाले नीरज चोपड़ा जिनका नाम आज गौरव का एहसास कराता है.भारतीय गौरवमई खिलाड़ी नीरज ने वह कमाल कर दिखाया जिससे भारत का नाम ऊंचा कर दिया. नीरज ने अपने अच्छे प्रदर्शन के चलते भारत को स्वर्ण पदक जिताने का जो काम की कर दिखाया है, अपनी प्रतिभा दिखाई है उससे सभी भारतवासी बहुत ज्यादा प्रसन्न है नीरज ने पूरे भारत का नाम रोशन कर दिया है.

नीरज चोपड़ा ने भारत का नाम रोशन करते हुए टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर अपना नाम इतिहास के पन्नों पर सुनहरे अक्षरों में अंकित करा दिया है. उन्होंने 87.58 मीटर जैवलिन थ्रो के साथ भारत की गोद में गोल्ड मेडल अपने प्रतिभा से डाल दिया है.देश का 100 वर्ष पुराना इंतजार खत्म कर दिया नीरज की इस सफलता से जर्मन के महान खिलाड़ी (Ume Hohn) ने लिखी 59 वर्षीय हॉन एकमात्र खिलाड़ी हैं जिनके भाले ने 100 मीटर का आंकड़ा पार किया है.1984 मे हॉन ने 104.8 मीटर दूर भाला फेंक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था.

लेकिन उवे हॉन ने पुराने भाले से ये रिकॉर्ड कायम किया था.1986 मे नये डिज़ाइन के भाले से जेवलिन थ्रो के इवेंट होने लगे. नए डिजाइन के भाले के साथ वर्ल्ड रिकॉर्ड जैन जेलेगनी के नाम हैं.उन्होंने जर्मनी में जेस्स मीटिंग इवेट में 98.48 मीटर की दूरी तक भाला फ़ेंक था. ये कारनामा जेन ने 1996 मे किया था.

ओलम्पिक मे हॉन जीत सकते थे मैडल….
गौरवमई  नीरज  चोपड़ा ने भी  केवल 19 वर्ष की आयु में यह कारनामा कर दिखाया. उन्होंने 1981 मे यूरोपियन जूनियर चैंपियनशिप मे रिकॉर्ड 86.58 दूर भाला फेन्का. इसके बाद 1982 मे हुए यूरोपियन चैंपियनशिप में 91.34 मीटर दूर भाला फेका.हॉन 1984 मे लॉस एंजिलिस ओलंपिक में भाग लेने से चूक गए थे. क्योंकि तब पूर्वी जर्मनी अमेरिका के विरोध में खेलों का बहिष्कार किया था.लेकिन उन्होंने 20 जुलाई 1984 को बर्लिन में हुए एथलेटिक्स मीटर मे 104.8 दूर भाला फेक वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम कर दिया.हॉन ने कहा मुझको अपनी गलती से सवण पदक नए जीतने का दुख है.ओलम्पिक मे हॉन गोल्ड मेडल नहीं जीत सके लेकिन 1985 मे उन्होंने आईएएएफ वर्ल्ड कप मे उन्होंने 96.96 मीटर दूर भाला फेंक सोना जीता.

आपको जानकारी के अनुसार बतादे हॉन को गुरु नीरज सफलता की बुलंदियो पर चढ़ते चले गए. कोच हॉन के अंडर मे कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में 86.47 मीटर के थ्रो के साथ स्वण पदक जीता. इसके बाद डायमंड लीग 2018 के दोहा लीग में 87.43 मीटर थ्रो के साथ उस वर्ष अपना सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत प्रदर्शन किया. एशियाई खेलों में 88.06 मीटर के थ्रो के साथ जीत हासिल की.

source.https://m.dailyhunt.in/news/india/hindi/news18+hindi-epaper-pradehin/niraj+chopada+ke+jarman+koch+bhi+rahe+hai+supar+star+100+mitar+se+jyada+dur+tak+phenk+chuke+hai+bhala-newsid-n305422030?s=a&uu=0x1997cf9393abe3a3&ss=pd

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *