खबर

ज्ञानवापी पर ओवैसी की पार्टी AIMIM के नेता का विवादित पोस्ट ,अब UP पुलिस ने किया गिरफ्तार हुई ऐसी हालत

आपको बतादे खबरों के अनुसार ज्ञानवापी मस्जिद के विवाद को लेकर ओवैसी की पार्टी  के व्यक्ति ने विवादित बयान पोस्ट किया. फेस बुक पर जिस कारण उसको हिरासत में ले लिया गया.जैसा कि इन दिनों खबर चर्चा में है बिजनौर में मस्जिद को लेकर जो शासन द्वारा जांच की जा रही है. उसको लेकर कोर्ट में अर्जी लगाई गई है.

 

एक सुनवाई हुई हैऔर ऐसे में अदालत सुनवाई की जाएगी.  ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर ही अब एक मामला सामने आया है ओऐसी के पार्टी नेता द्वारा इस फेसबुक पोस्ट के कारण पुलिस ने अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है.

ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर कोर्ट में सुनवाई लगातार जारी है और कोर्ट के फैसले के बाद ही अगला कदम उठाया जाएगा.ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर शिवलिंग के होने की बात कही जा रही है जो जांच हुई है उसमें शिवलिंग को लेकर बात की गई है इसकी जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है.ज्ञानवापी पर ओवैसी की पार्टी के नेता का विवादित पोस्ट यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार.ओवैसी की पार्टी AIMIM के नेता ने ऐसा विवादित पोस्ट फेसबुक द्वारा शेयर किया जो भड़काऊ है .

आपको बतादे अब बिजनौर पुलिस ने ज्ञानवापी मस्जिद मामले में फेसबुक पर विवादित बयान पोस्ट करने असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अब्दुल सलाम को गिरफ्तार करलिया गया.

आपको बता दें अब्दुल सलाम ज्ञानवापी मस्जिद मामले में विवादित बयान सपा के मुस्लिम विधायकों को लेकर पोस्ट किया था. जिसकी शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने अब्दुल सलाम के बयान को उकसाने वाला मानते हुए इसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया. बिजनौर के किरतपुर निवासी असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अब्दुल सलाम ने ज्ञानवापी मस्जिद मामले में चल रहे कोर्ट कार्रवाई के बाद फेसबुक पर एक विवादित बयान पोस्ट किया था.इसमें लिखा था,”उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के 36 मुस्लिम विधायक हैं. किसी ने भी ज्ञानवापी मस्जिद मामले में विरोध दर्ज नहीं कराया. क्योंकि गुलामों को विरोध दर्ज कराने का कोई अधिकार नहीं होता”.इसका स्क्रीनशॉट बहुत तेजी से वायरल हुआ इसको पुलिस ने संज्ञान में लेते हुए एआईएमआईएम के नेता अब्दुल सलाम को पुलिस हिरासत में ले लिया गया और उससे फिलहाल पूछताछ भी की जा रही है. पुलिस ने इस वायरल बयान को भड़काने वाला मानते हुए इस नेता के खिलाफ भड़काऊ पोस्ट करने आईटी एक्ट सहित और धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है.इसको जेल भेजने की तैयारी की जा रही है.

 

 

To Top