खबर

बीएसएफ में तैनात दमोह के जवान की करंट लगने से मौत,अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा में तैनात था जवान

देश की सेवा में एक व्यक्ति को अपने सेना में भर्ती होने का हौसला देता है और इस हौसले से ही इंसान अपने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति भी हंसते-हंसते दे देता है. हमारे कितने ही जवान अपने देश के लिए हंसते-हंसते अपने प्राणों की आहुति दे चुके हैं और देश की सेवा में हमेशा ही तत पर बने रहते हैं.

अप्पको बतादे जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा में तैनात मध्य प्रदेश के दमोह जिले के रहने वाले सीमा सुरक्षा बल बीएसएफ के जवान अकील खान की आकस्मिक मौत हो गई. उनकी मौत की खबर आने के बाद पूरे इलाके में मातम छा गया है.जम्मू कश्मीर में तैनात बीएसएफ के जवान के आकस्मिक निधन से मातम का माहौल छा गया है.

 

बीएसएफ के जवान अकील का शव मंगलवार शाम तक पहुंचने की खबरें आ रही हैं. ऐसी खबर भी मिली है प्रशासन की ओर से पूरी तैयारियां शव को लाने की कर ली गई है. और अब है देश के लाल के अंतिम दर्शन को बेचैन परिवार खबरों के अनुसार दमोह के फुटेरा वार्ड में रहने वाले अकील के परिवार को जैसे ही उनके मौत की खबर मिली तो परिवार में मातम छा गया.

 

 

अकील खान वर्ष 2008 से बीएसएफ में भर्ती हुए थे. उनके परिवार में एक बेटी और एक बेटा और माँ हैं.अकील की मौत की खबर आने के साथ ही जिला प्रशासन बीएसएप के संपर्क में है.प्राप्त जानकारी के अनुसार अकील का शव मंगलवार शाम साढ़े चार बजे एक विशेष विमान से भोपाल एयरपोर्ट पहुंचेगा. वहां शव को दमोह के सांसद और केंद्रीय राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल को सौंपा जाएगा इसके  बाद शव को सड़क मार्ग से दमोह ले जाया जाएगा.

 

खबरों के अनुसार अकील के चाचा अलीम खान ने बताया  बचपन से सेना में जाने का सपना मन मे था और अकील बीएसएफ में वर्ष 2008 मे शामिल हुए थे.इसके साथ ही उनका सपना पूरा हुआ था.उन्होंने बताया  उस समय अकील बहुत खुशी,खुशी अपनी मां शकीला बेगम से विदा लेकर दिल में देश सेवा का संकल्प लेकर रवाना हुए थे. इससे उनका पूरा परिवार बहुत खुश था.अकील के परिवार में पत्नी शाजिया खान के अलावा 8 साल की एक बेटी, 3 साल का एक बेटा है माँ और उनके दो भाई और एक बहन हैं.आपको बतादे दमोह के कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य ने बताया प्रशासन बीएसएफ के संपर्क में है. उन्होंने बताया अकील का शव मंगलवार शाम तक पहुँचने कि खबर  है. उन्होंने बताया दमोह जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है.

 

To Top