खबर

हरयाणा की रेशमा ने करदिया कमाल बनी देश की सबसे ज्यादा दूध देने वाली भैंस ,सरकार से मिला सर्टिफिकेट

हरियाणा की एक भैंस जिसने सबसे ज्यादा दूध देने वाली भैंस होने का खिताब अपने नाम कर लिया है.हरियाणा की भैंस को सबसे ज्यादा दूध देने वाली भैंस का सर्टिफिकेट भी मिल गया है.आपको बतादे इस भैंस का नाम रेशमा है. खबरों के अनुसार डॉक्टरों की टीम ने 7 बार रेशमा भैंस का दूध निकालकर देखा. जिसके बाद वह भारत में सबसे ज्यादा दूध देने वाली भैंस बन गई. नेशनल डेरी डेवलपमेंट बोर्ड NDDB की ओर से 33.8 लीटर दूध देने के रिकॉर्ड का सर्टिफिकेट भी दे दिया गया है.

खबरों के अनुसार हरियाणा में कैथल के बूढ़ा खेड़ा गांव को सुल्तान बुल ने पूरे भारत में प्रसिद्ध कर दिया था. अब सुल्तान तो नहीं रहा लेकिन उसके मालिक को अब एक नई पहचान उनकी ही भैंस ने यह पहचान दिलवाई है.आपको बता दें हरियाणा में कैथल के बूढ़ा खेड़ा गांव सुल्तान बुल के मालिक की मुर्रा भैंस रेशमा ने पूरे भारत में रेशमा भैंस में सबसे ज्यादा दूध देने वाली भैंस का रिकार्ड अपने नाम किया है.जब पहले बच्चे को जन्म दिया उसके बाद उसने 19 से 20 लीटर दूध दिया.दूसरी बार बच्चे को जन्म देने के बाद 30 लीटर दूध दिया था.

 

जब रेशमा तीसरी बार मां बनी तब उसने 33.8 लीटर दूध के साथ एक नया रिकॉर्डर अपने नाम बना लिया.खबरों के अनुसार कई डॉक्टरों ने 7 बार रेशमा का दूध निकालकर टेस्ट किया और इसी बात के आधार पर वह सबसे ज्यादा दूध देने वाली भैंस बन गई.

नेशनल डेरी डेवलपमेंट बोर्ड (NDDB) की तरफ से कल ही 33.8 लीटर रिकॉर्ड के सर्टिफिकेट साथ रेशमा को उन्नत किस्म की पहले नम्बर की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिय. रेशमा के दूध के फैट की गुणवत्ता 10 में से 9.31 है.

मुर्रा भैंस रेशमा के दूध को निकालने के लिए 2 लोगों को लगना पड़ता है काफी मेहनत के बाद दूध  निकाला जाता है. क्योंकि इतना दूध निकालना एक के बस की बात नहीं. आपकी जानकारी के लिए बता दें रेशमा को  डेरी फार्मिंग एसोसिएशन की तरफ.

रेशमा में डेरी फार्मिंग एसोसिएशन की तरफ से लगाये गए पशु मेले में भी 31.213 लीटर दूध के साथ प्रथम पुरस्कार जीता है. इसके अलावा ओर कई इनाम भी रेशमा ने अपने नाम किए है.खबरों के अनुसार मालिक नरेश व राजेश का कहना है  सुल्तान ने हमें वो नाम दिया जिसकी वजह से देश-प्रदेश में हमें हर कोई जानता है. उसकी कमी तो हमेशा रहेगी लेकिन अब हम कोई और बैल तैयार करेंगे जो हमारा नाम ऊंचा करें. लेकिन हमारी मुर्रा भैंस रेशमा ने अपने दूध बनाने के रिकॉर्ड से हमारी काफी खास पहचान बनाई है. खुद के लिए रिकॉर्ड बनाया है अपने नाम पर.आपको बतादे बैल सुल्तान के सीमन से लाखों की कमाई होती थी.सुल्तान सालभर में 30 हजार सीमेन की डोज देता था.जो लाखों रुपये में बिकती थी. सुल्तान वर्ष 2013 में .हुई राष्ट्रीय पशु सौंदर्य प्रतियोगिता में झज्जर, करनाल और हिसार में राष्ट्रीय विजेता भी रह चुका था. राजस्थान के पुष्कर मेले में एक पशु प्रेमी ने सुल्तान की कीमत 21 करोड़ रुपए लगाई थी.लेकिन नरेश ने कहा था कि सुल्तान उसके बेटे जैसा है और बेटों की कोई कीमत नहीं हुआ करती. सुल्तान की पिछले वर्ष सितंबर में मौत होगई थी.

To Top