खबर

बरात लेकर पहुंचा दूल्हा कर बैठा ऐसी गलती की दुल्हन ने उसी के सामने लिये दूसरे लड़के संग साथ फेरे

आप से चर्चा करेंगे ऐसी बारात जहां दूल्हे ने की एक गलती छोटी सी उस गलती के कारण दुल्हन ने ले लिए दूसरे युवक के संग फेरे. उसके बाद जो हुआ पूरी बारात में चर्चा करते हैं.आपको बता दें राजस्थान के चूरू में ये शादी इन दिनों काफी ज्यादा सुर्खियों में बनी हुई है.गांव चेलाना बास की यह घटना है. बता दे गांव चेलाना बास की मंजू की शादी हरियाणा के सिवानी के रहने वाले अनिल जाट से तय हुई थी.लेकिन सात फेरे लेने से पहले कुछ ऐसा हुआ कि रिश्ते ही बदल गए.

 

खबरों के अनुसार हुआ यूं दूल्हा अपनी बारात में दोस्तों के साथ डीजे पर खूब डांस कर रहा था मस्ती मजाक हो रहा था उसे समय का पता ही नहीं चला वह समय पर मंडप पर नहीं पहुंच पाया. युवक की इस हरकत से दुल्हन और उसके पिता काफी नाराज हो गए.फिर युवती ने अपने पिता की मर्जी से ठीक उसी समय दूसरे युवक के साथ फेरे लेकर शादी रचा ली.

 

खबरों के अनुसार चेलाना गांव की मंजू और हरियाणा के सिवानी निवासी अनिल का घर वालों ने रिश्ता तय कर दिया था.दोनों की शादी 15 मई को होनी थी अनिल दूल्हा बनकर बारातियों के साथ मंजू से बियां करने चला बास पहुंच भी गया था. लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.अनिल उसका जीजा और बारातियों को डीजे पर नाच गाने का ऐसा नशा सवार हुआ कि वह डीजे की मस्ती में खो गए. फेरों का समय बीतता गया लेकिन उन पर डीजे की ऐसी खूमाार चड़ी की लड़की वालों की सारी समझाईश को नजरअंदाज करते रहे.

डीजे की धुन पर नाच रहा दूल्हा फेरे लेने मंडप नहीं पहुंच सका. इस बात को लेकर दोनों पक्षों में विवाद भी होने लगा. मंजू और उसके परिवार को यह सब हो रास नहीं आया.इसके बाद मंजू की सहमति से उसके पिता और परिवार के लोगों ने हरियाणा के शिवानी से आई बारात को  दुल्हा बारात को बैरंग वापस कर दिया. मंजू के पिता ने बताया बरात लौटाने के बाद परिवार के सभी लोग बैठे थे. तभी उसकी बहन चंद्रपति ने बताया उसकी पोती की शादी भोगराना हनुमानगढ़ की हुई है.

उसका देवर रोहताश भी शादी के लायक है.रोहताश ने अपने गांव में रेडीमेड कपड़े का व्यापार कर रखा है. 16 मई की सोमवार  उसके परिवार के लोगों को फोन पर यह बात शादी की बताई गई तो शादी के लिए राजी हो गए. रोहताश और उसके परिवार के लोग फौरन चेलाना बास के लिए रवाना हुए. फिर वह मंजूर रोहताश ने एक-दूसरे को पसंद कर एक,दूसरे के जीवन साथी बनने पर अपनी सहमति दे दी. फिर सोमवार को हिंदू रीति-रिवाजों के साथ रोहताश और मंजू की शादी कर दी गई.खुड़ी ग्राम पंचायत सरपंच नाथूराम ने बताया हरियाणा सिवानी से आई बारात में दूल्हे बारातियों दूल्हे के जीजा का हुड़दंग सहन करने वाला ना था. तब उन्हें बिना दुल्हन के बैरंग लौटा दिया गया.इसके बाद दूल्हे पक्ष से उसे ₹3 लाख 75 हज़ार नकद और सोने-चांदी के गहने वापस ले लिए गए. वहीं दूल्हे पक्ष की ओर से दिए गए सोने चांदी के गहने भी उन्हें लौटा दिए गए.

To Top