खबर

लव जिहाद के आरोपी पर ग्वालियर में चला ‘मामा’ का बुलडोजर ,धर्म बदलकर रचाई शादी तो तोड़ दिया घर

मौजूदा समय में लव जिहाद सुर्खियों में बना हुआ है.मध्यप्रदेश, हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत कई भाजपाई राज्य लव जिहाद के खिलाफ कानून लाने में जुटे हैं तो वहीं गैर भाजपा राज्यों में इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन चल रहा है। दिलचस्प बात यह है कि लव जिहाद को लेकर जो कानून बनाने की तैयारी चल रही है, उसमें लव जिहाद से जुड़ा कोई शब्द नहीं है.कहने के लिए देश के कई हिस्सों से लव जिहाद के मामले सामने आते हैं,जिसमें केरल, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और कर्नाटक जैसे राज्य शामिल हैं लेकिन देश की किसी भी संस्था के पास लव जिहाद से जुड़े मामलों का आंकड़ा नहीं है.

साथ ही साथ सरकार के पास भी लव जिहाद से जुड़ा कोई केस दर्ज नहीं हुआ है.सरकार ने खुद संसद में इस बात को माना है कि लव जिहाद के तहत कोई केस किसी भी एजेंसी ने दर्ज नहीं किया है.दस साल पहले लव जिहाद शब्द का इस्तेमाल हुआ था, जब केरल कैथलिक बिशप काउंसिल ने दावा किया था कि लगभग 4,500 लड़कियों को लव जिहाद का निशाना बनाया गया है,इसके अलावा हिंदू जनजागृति का भी आरोप था कि केरल में 30,000 लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन किया गया है.

 

अभी एक ताज़ा मामला सामने आया है जिसमे एक मुस्लिम लड़के ने एक हिन्दू लड़की को अपने प्रेम जाल में फसा कर शादी कर के घर ले आया,सोमवार को डबरा में लव जिहाद का मामला सामने आया था.एक मुस्लिम युवक ने खुद को हिन्दू बताकर एक हिन्दू युवती से दोस्ती की बाद में उसे प्यार के जाल में फंसा कर उससे शादी कर ली थी.शादी के बाद महिला को आरोपी के मुस्लिम होने की जानकारी लगी,

जिसके बाद आरोपी ने महिला पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया और निकाह किया.डबरा निवासी इमरान ने राजू खटीक बनकर ग्वालियर के गोल पहाड़िया पर रहने वाली एक युवती से दोस्ती की.इसके बाद उसे प्यार में फंसा लिया और बाद में उससे शादी कर ली.राजू उर्फ इमरान ने शीतला माता मंदिर में युवती से शादी की,लेकिन युवक के घर पहुंचने पर युवती को पता चला कि उसके साथ धोखा हुआ है.उसका पति राजू तो इमरान खान है.इसके बाद युवती किसी तरह उनके चंगुल से छूटी और ग्वालियर पहुंचकर महिला थाने में पुलिस से शिकायत दर्ज कराई.

आरोपी और उसके परिवार के लोगों ने बीते सात महीने से महिला को अपने घर में बंधक बना रखा था.किसी तरह वहां से भागने के बाद लव जिहाद के मामले का खुलासा हुआ.पीड़िता के साथ आरोपी के दो भाइयों और मौलवी ने भी रेप किया था.वहीं दो अन्य व्यक्तियों ने भी महिला का शारीरिक शोषण किया था.लव जिहाद शब्द साल 2009 से सुनने को मिला है, इससे पहले रोमियो जिहाद शब्द ज्यादा सुना जाता था.जो कि बाद में लव जिहाद बन गया.कुछ मीडिया रिपोर्ट्स कहती हैं कि लव जिहाद शब्द पहली बार 2009 में इस्तेमाल किया गया था.रिटायर्ड जस्टिस केटी शंकरन ने माना था कि केरल के कुछ हिस्सों में जबरन धर्म परिवर्तन के मामले मिले हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top