खबर

दिल्ली के स्टेडियम में कुत्ता घूमना IAS दम्पत्ति को पड़ा भारी ,आईएएस खिरवार का लद्दाख और पत्नी रिंकू दुग्गा का अरुणाचल ट्रांसफर

अक्सर ऊंचे ओहदे पर आ जाने के बाद व्यक्ति शक्तियों का गलत प्रयोग करने लगता है. इसी कारण हो ऐसे कार्य करने लग जाता है जिससे उसकी खुद भी हानि होती है. और प्रशासन को ऐसे ऊँचे ओहदे पर होने पर  शक्तियों का नाजायज उपयोग करने से कार्रवाई भी करनी पड़ती है.

 

 

खबरों के अनुसार दिल्ली के त्याग राज स्टेडियम में कुत्ते को लेकर घूमने वाले प्रसिद्ध खिलाड़ियों को मैदान से बाहर कर देने वाले 9 बजे की बजाय 7 बजे स्टेडियम बंद करने के आदेश निकलने के कारण का ट्रांसफर कर दिया गया है लद्दाख और पत्नी का ट्रांसफर किया गया अरुणाचल प्रदेश.

 

दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में अपने कुत्ते को लेकर टहलने और इस दौरान प्रशिक्षु खिलाड़ियों को बाहर रवाना कर देने के मामले में विवादों में घिरे आईएएस दंपति को देश के दो कोने में भेजकर मोदी सरकार ने जबर नजीर पेश की है.आईएएस संजीव खिरवार को लद्दाख ट्रांसफर कर दिया गया है.

 

 

जबकि उनकी पत्नी रिंकू दुग्गा को अरुणाचल प्रदेश के लिये रवाना होने का आदेश दिया गया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय की कार्रवाई नौकरशाह संजीव खिरवार पर एथलीटों को अपने दैनिक प्रशिक्षण को जल्दी खत्म करने के लिए मजबूर करने के आरोप के बाद आई है ताकि वह त्यागराज स्टेडियम में अपने कुत्ते के साथ शाम की सैर कर सकें.आपको बतादे केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को आईएएस दंपति संजीव खिरवार और रिंकू दुग्गा दोनों एजीएमयूटी कैडर के 1994 बैच के अधिकारियों को दिल्ली से बाहर स्थानांतरित कर दिया गया है.अब खिरवार पर राष्ट्रीय राजधानी के त्यागराज स्टेडियम में एथलीटों को अपना प्रशिक्षण जल्दी खत्म करने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया गया.

 

 


गृह मंत्रालय की एक अधिसूचना के अनुसार दिल्ली सरकार में प्रमुख सचिव “राजस्वके” रूप में काम करने वाले खिरवार को लद्दाख स्थानांतरित कर दिया गया. जबकि दुग्गा को अरुणाचल प्रदेश में स्थानांतरित कर दिया गया है.खबरों के अनुसार आज इंडियन एक्सप्रेस ने एक स्टोरी की जिसके अनुसार आईएएस दंपति अपने कुत्ते के साथ रात में स्टेडियम में टहलने जाते थे.इसमें उन्हें कोई परेशानी न हो इसलिये उन्होंने स्टेडियम को शाम 7 बजे बंद करने का आदेश जारी कर दिया. जबकि पहले स्टेडियम रात के 9 बजे तक खुलता था.इसके पश्चात एथलीटों को प्रशिक्षण में परेशानी होने लगी.इस न्यूज पर आईएएस अफसरों की भूमिका को लेकर सोशल मीडिया पर बहुत अधिक बदनामी होने लगी.केंद्र सरकार की भी आलोचना की जाने लगी और आज शाम होते होते केंद्र सरकार ने कार्रवाई कर यह साबित कर दिया मोदी और शाह की जोड़ी को कोई हीला हवाली पसंद नहीं है.

To Top