खबर

उन्नाव:-युवक गिड़गिड़ाकर कहता रहा,हम तो बीजेपी को वोट देते हैं,लेकिन बुलडोजर नहीं रुका

यूपी के उन्नाव में बीजेपी कार्यकर्ता का सेफ्टी टैंक ध्वस्त करवाने बुलडोजर के साथ पहुंचे लेखपाल, नायब तह और पुलिस फोर्स को भारी विरोध का सामना करना पड़ा. इस दौरान बुलडोजर को लेकर पुरवा से भाजपा विधायक ने जमकर हाई वोल्टेज ड्रामा किया. अतिक्रमण खाली कराने पहुंचे प्रशासन ने पहले अतिक्रमण हटाने की नोटिस थी. अतिक्रमण ना हटाने पर प्रशासन कार्रवाई करने पहुंचा था. लेकिन पुरवा विधायक ने कार्रवाई नहीं करने दी. वहीं पुरवा विधायक अनिल सिंह ने प्रशासन पर ही गंभीर आरोप लगा दिए हैं. विधायक ने ने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता ने पैसा नहीं दिया इसलिए यह लोग तोड़ने पहुंचे थे जो इन्हें पैसा देगा उसकी बिल्डिंग खड़ी कराएंगे. उन्होंने कहा कि अधिकारी सपा मानसिकता के लोग हैं.

उन्नाव के मौरावा थाना इलाके के चंदन बाजार के निवासी भगवती प्रसाद गुप्ता का सेफ्टी टैंक रोड का चौड़ीकरण की वजह से टूट गया था. आरोप है कि उनके विरोधी प्रमोद दीक्षित ने एसडीएम से शिकायत की थी कि भगवती प्रसाद गुप्ता सरकार की जमीन पर कब्जा करके सेफ्टी टैंक बनवा रहे हैं. फिर क्या था एसडीएम दयाशंकर पाठक ने प्रार्थना पत्र के आधार पर जांच के आदेश दिए. जांच में पता चला कि जमीन पीडब्ल्यूडी है. पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने संज्ञान लेते हुए भगवती प्रसाद गुप्ता को नोटिस भेजा, उसके बावजूद अतिक्रमण नहीं हटाया गया और वो सेफ्टी टैंक को बनवा रहे थे.

जिसके बाद एसडीएम ने नायब तहसीलदार के नेतृत्व में जेसीबी के साथ टीम भेज दी और कार्रवाई करने के आदेश दिए. इस दौरान मौके पर पहुंचे पुरवा विधायक ने अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई और अधिकारियों को सपा मानसिकता वाला बताया. अनिल सिंह ने कहा कि 350 करोड़ की रोड हमने बनवाई थी, जिसकी वजह से बहुत सारे लोगों का टैंक टूट गए. बहुत लोगों का नुकसान हुआ, लेकिन मेरे आग्रह से इन लोगों ने कहा था कि रोड बन जानी चाहिए विकास का कार्य है. इसके बाद हम टैंक बाद में बना लेंगे, लेकिन यहां जितने भी सरकार की मंशा के खिलाफ काम करने वाले अधिकारी कर्मचारी हैं. सब मिलीभगत करके रुपया लेते हैं और उसको छोड़ देते हैं.जो रुपया नहीं देता है, उसका निर्माण गिरा देते हैं.

विधायक ने कहा कि जबकि सरकार का आदेश है कि गरीबों को परेशान नहीं किया जाएगा. लेकिन सरकारी कर्मचारी जिस तरह से गरीब लोगों का नुकसान कर रहे हैं. उसकी शिकायत मुख्यमंत्री से करूंगा. उन्होंने कहा कि जिसका निर्माण यह लोग तोड़ने आए हैं वह भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता है. उसने वोट देकर हमारी सरकार बनवाई है. आज उसी का सेफ्टी टैंक गिराने का वह भी समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता और मठाधीश दलालों के साथ मिलकर हुंचे हैं. विधायक ने कहा कि अभी एक हॉस्पिटल सील हुआ है, लेकिन उसे गिराने नहीं पहुंच रहे हैं. यह लोग जहां पर रुपया मिल जाता है, वहां कार्रवाई नहीं करते हैं. विरोध के बाद प्रशासन लौट आया.

To Top