खबर

आखिर क्यों ‘6174’ को भारतीय गणितज्ञ द्वारा खोजने के बाद माना जाता है लकी नंबर ?अब हुआ बड़ा खुलासा

आज रामचंद्र काप्रेकर की खोज पर भारत सहित दुनिया भर के देशों में काम हो रहा है. आखिर साधारण से ये 4 नंबर इतने चमत्कारी क्यों माने जाते हैं? इसके पीछे मूल वजह क्या है, आइए जानते हैं. 6174 ये चार नंबर आपको दिखने में सामान्य लगेंगे. लेकिन सामान्य से बढ़कर हैं और इन्हें मैजिकल नंबर का दर्जा दिया गया है. आप इस नंबर को बोलें तो लगेगा कि इसमें क्या चमत्कारी या मैजिकल हो सकता है. लेकिन गणित की दुनिया में जब भी इसका उपयोग किया जाता है, अच्छे-अच्छे एक्सपर्ट की जुबां बंद हो जाती है. इसे मैजिकल नंबर इसलिए कहा जाता है क्योंकि 1949 से लेकर अब तक यह पहेली बनी हुई है और कई गणितज्ञ इस पहेली को सुलझाने में लगे रहे हैं, लेकिन कामयाबी हाथ नहीं लगी है.

 

इस मैजिकल नंबर की खोज को जहां भारतीय गणितज्ञों ने खारिज कर दिया, वही दुनिया के कई गणितज्ञों ने इस पर गहन शोध किया और लोगों के सामने रोचक जानकारी रखी. आज काप्रेकर की खोज पर भारत सहित दुनिया भर के देशों में काम हो रहा है. आखिर साधारण से ये 4 नंबर इतने चमत्कारी क्यों माने जाते हैं? इसके पीछे मूल वजह क्या है, आइए जानते हैं.

ऐसे करें प्रयोग


इसके लिए सबसे पहले आपको अपने मन से कोई भी चार संख्या चुननी है. शर्त ये है कि चार नंबर में कोई भी नंबर दोबारा नहीं आना चाहिए. उदाहरण के लिए 1234 लेते हैं. सबसे पहले इन्हें बढ़ते क्रम में 1234 लिखते हैं. फिर घटते क्रम में 4321 लिखते हैं. अब बड़ी संख्या को छोटी संख्या यानी कि 4321 से 1234 को घटा दें तो हमें नई संख्या 3087 मिलेगी. अब 3087 को भी बढ़ते और घटते क्रम में लिखते हैं. बढ़ता क्रम 8730 होगा और घटता क्रम 0378 होगा. अब 8730 में से 0378 को घटा दें तो 8352 मिलेगा. अब इसके भी बढ़ते क्रम में से घटते क्रम (8532-2358) को माइनस कर दें तो हमें 6174 मिलेगा.

कंप्यूटर भी आजमा चुका प्रयोग-


इसके बारे में एक ऑनलाइन मैग्जिन प्लस मिनिशियामा ने लिखा है कि 6174 को पाने के लिए चार अंकों को एक साथ पाने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल किया गया लेकिन चार संख्या अलग-अलग रखने पर भी अंत में वही चमत्कारी संख्या 6174 ही मिली. काप्रेकर ने यह काम 7 चरणों में किया था. कंप्यूटर का इस्तेमाल करने के बाद भी 7 चरणों का नतीजा यही संख्या मिली. पत्रिका बताती है कि बढ़ते और घटते क्रम के साथ घटाव करने पर 7 चरणों के बाद 6174 रिजल्ट के रूप में नहीं आता है, इसका मतलब हुआ कि कहीं न कहीं जरूर गड़बड़ी हुई है. यह गड़बड़ी घटाव करने में हो सकती है.

अंत में 6174 ही मिलेगा-


यहां 6174 का बढ़ता क्रम 7641 होगा जबकि घटता क्रम 1467 होगा. बड़ी संख्या में से छोटी संख्या को घटा दें तो हमारे सामने नई संख्या 6174 होगी. यही वो चमत्कारी संख्या है. यानी कि जितना भी जोड़ घटाव कर लें, अंत में 6174 ही मिलेगा. अगर आपको लगता है कि 1234 के साथ यह कोई महज संयोग है तो कोई दूसरी संख्या के साथ भी प्रयोग दोहरा सकते हैं. मान लीजिए आपने 5200 संख्या का चुनाव किया. इसका घटता क्रम 0025 होगा. 5200 में से 0025 घटाएं तो 5175 होगा. 5175 को बढ़ते और घटते क्रम से घटाएं तो हमें 5994 मिलेगा. 5994 का बढ़ता क्रम 9954 होगा जिसमें से घटता क्रम 4599 घटाएंगे तो 5335 संख्या मिलेगी. अब इसके बढ़ते और घटते क्रम को घटाते जाएं तो अंत में फिर वही चमत्कारी संख्या 6174 मिलेगी. आप किसी भी चार संख्या के बढ़ते क्रम को घटते क्रम की संख्या से घटा दें तो यही चमत्कारी संख्या मिलती है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top