Breaking News
Home / बॉलीवुड / अमिताभ गोविंदा किसी ने फोन नहीं किया कादर खान के निधन पर इंडस्ट्री से नहीं आया फोन एक्टर के बेटे ने बयां किया था दर्द…..

अमिताभ गोविंदा किसी ने फोन नहीं किया कादर खान के निधन पर इंडस्ट्री से नहीं आया फोन एक्टर के बेटे ने बयां किया था दर्द…..

दोस्तों संसार एक ऐसी जगह है जहां ना कोई अपना होता है ना पराया कहने को तो कभी कभी अजनबी से भी ऐसे रिश्ते बना लेते हैं कि अपनों से ज्यादा और रिश्ते मायने रखने लगते हैं लेकिन कभी-कभी हम किसी एक ही जगह पर रहकर भी वह वफा और वह एहसास नहीं मिल पाता है सदियों पुराने रिश्तो में भी कभी-कभी इतना अकेलापन आ जाता है कि कोई एहसास ही नहीं रहता.

वहीं अगर हम बॉलीवुड फिल्मी दुनिया की बात करें अपने इंडस्ट्री की तो यहां पर भी कुछ ऐसा ही है जब तक साथ रहो काम करो तो एक दूसरे के साथ और पहचान होती है.हम बात कर रहे हैं 80 90 के दशक के मशहूर अभिनेता कादर खान जिन्होंने अपने अभिनय के दम पर बॉलीवुड फिल्मी दुनिया में बहुत ही खास पहचान बनाई थी.वह कॉमेडी भी किरदार निभाया करते थे और संजीदगी वाले किरदार भी अदा किए हैं.कभी उन्होंने नेगेटिव रोल भी निभाया काफी अच्छी पहचान बनाई.लेकिन उनके बेटे सरफराज ने एक इंटरव्यू के दौरान अपना दर्द बयां किया था तो आइए हम आपको बताते हैं उनके बेटे सरफराज ने अपने इंटरव्यू में क्या कहा.

जब एक्टर कादर खान का निधन हुआ था तब डेविड धवन को छोड़कर इंडस्ट्री से किसी ने उनके निधन पर फोन नहीं किया था ऐसा उनके बेटे सरफराज खान ने बताया था.एक्टर कादर खान के बेटे सरफराज ने बताया कि अमिताभ बच्चन, गोविंदा जैसे कलाकारों के साथ तो सबसे ज्यादा काम किया,लेकिन इन लोगों की तरफ से उनके निधन पर कोई फोन नहीं किया.

कादर खान अपने बेटों से पहले ही कहते थे कि फिल्म इंडस्ट्री किसी को याद नहीं रखतीइसलिए उन्होंने वहां के लोगों से कोई उम्मीद नहीं है. सरफराज ने पिता के निधन पर कहा था कि उनके पिता को भुला दिया गया कादर खान के निधन पर गोविंदा ने एक ट्वीट कर उन्हेंपिता समान बताया था जिस पर सरफराज ने बीबीसी से बातचीत में अपनी प्रतिक्रिया भी दी थी.


उन्होंने कहा था कि लोग भले ही मोहब्बत में उन्हें पिता कहते हो लेकिन असली पीड़ा मुझे है मैंने ही उनका ख्याल रखा किसी और ने उन्हें याद तक नहीं किया.”सरफराज ने कहा था मेरे पिता ने  पूरी जिंदगी बॉलीवुड को दे दी लेकिन उन्होंने कभी इस चीज की उम्मीद नहीं की शायद जब वह काम करते थे तब उन्होंने देखा था कि उनके सीनियर्स के साथ आखिरी वक्त में कैसा बढ़ताव हुआ”सरफ़राज़ ने आगे बताया था कि पिता के निधन पर डेविड धवन को छोड़कर किसी का फोन नहीं आया उन्होंने बताया था इंडस्ट्री में जो ट्रेंड  बना लेते है. वह आगे जाकर सबके साथ होगा बाद में लोग संवेदना जताते हैं.दुनियाके सामने दिखावा करते हैं दिखावे के लिए लोग शादियों में जाकर डांस भी करते हैं खाना भी परोसते हैं लेकिन हकीकत ऐसी नहीं है जब मेरे पिता को यह एहसास हुआ कि उन्हें अकेले ही लड़ाई लड़नी है तभी उन्होंने हमें बता दिया था कि हमारी इंडस्ट्री बेमुरव्वत है कभी किसी से उम्मीद मत रखना शायद उन्हें किसी बात का दुख पहुंचा होगा”वहीं अगर हम एक्टर कादर खान के परिवार के बारे में बात करें तो एक्टर कादर खान के माता-पिता अफगानिस्तान के काबुल शहर से उस समय भारत आए थे जब कादर खान छोटे थे उनका परिवार मुंबई के कमाठीपुरा में ठहरा था जो मुंबई की सबसे गंदी बस्ती मानी जाती थी.कादर खान ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि वह जिस इलाके मेंरहते थे वहां एक तरफ प्रॉस्ट्यूशन होता था तो दूसरी तरफ शराब बिकती थी ऐसे माहौल से निकलकर कादर खान ने बॉलीवुड फिल्मी दुनिया में अपनी एक खास पहचान बनाई थी.मशहूर अभिनेताओं की श्रेणी में अपना नाम अंकित कराया कादर खान बहुत ही शानदार अभिनेता हुआ करते थे.शानदार अभिनेता कादर खान ने  31अक्टूबर 2018 को कनाडा में अंतिम सांस ली इस दुनिया को अलविदा कह कर चले गए.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *