कुछ हटकर

दुनिया का सबसे अजीबोगरीब रिवाज, यहां मिर्त बच्चों को किया जाता है ये काम

आज हम बात करने जा रहे हैं अंतिम संस्कार की कृया के विषय में सभी धर्मों में अपने अपने तरीके से अंतिम संस्कार के किरिया की जाती है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे अजीबोगरीब अंतिम संस्कार की क्रिया के बारे में बताने जा रहे हैं कि जहां बच्चियों का अंतिम संस्कार अलग ही किर्या से कैसे किया जाता है. आज हम आपको इंडोनेशिया के एक इलाके मैं किस प्रकार बच्चों के अंतिम संस्कार के किरिया की जाती है इसको जानने के बाद आप भी हैरान रह जाएंगे.यहां अंतिम संस्कार की कृया बच्चों का शव जमीन की बजाए पेड़ के तने में दफनाया जाता है. इंडोनेशिया में यह अंतिम संस्कार की किर्या बहुत प्रचलित है. आपको बता दें इंडोनेशिया के ताना तरोजा इलाके मैं जब किसी बच्चे की मृत्यु हो जाती है,

तब उसके शव को पेड़ के तने में दफनाया जाता है, यहां ऐसी प्रथा का रिवाज है.आपको बता दें इस क्रिया को करने के पीछे यहां पर लोगों की ऐसी मान्यता है कि बच्चे प्रकृति की देन हैं और अगर वह जीवन की पूर्णता को प्राप्त नहीं कर पाते,और बच्चे की मृत्यु हो जाती है. तब इस क्रिया द्वारा बच्चे को प्रकृति को ही सौंप देना चाहिए. लेकिन यह किर्या तब ही की जाती है जब कोई बच्चा मृत्यु हो जाए और उस बच्चे के दांत ना निकले हो तभी उस बच्चे को इस किर्या द्वारा पेड़ के नीचे दफनाया जाता है, यदि बच्चा दांत निकले हुए समय में मृत्यु हो जाती है तब मिर्त बच्चे को पेड़ के ऊपर दफनाया जाता है. इसके पीछे का कारण यह है कि यहां के लोग ऐसा मानते हैं कि बच्चा हमारे साथ ही है।

इंडोनेशियाई एक पहाड़ी इलाका है यहां काफी तादाद में पेड़ पाए जाते हैं और यहां किसी न किसी पेड़ पर यह निशानी मिल जाती है कि यहां मृत बच्चे का शव दफनाया गया है. और बच्चे से जुड़ी यादें यहां मौजूद हैं.इसके लिए पेड़ के तने में बड़े-बड़े छेद कर दिए जाते हैं. और जब कभी किसी बच्चे की मृत्यु हो जाती है तब उस बच्चे का शव इन्हीं छेदो में पेड़ के तने के नीचे दफन कर दिया जाता है. पर आपको बता दें इसके पश्चात अंतिम संस्कार की विभिन्न रस्मो के अनुसार ढक दिया जाता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top