कुछ हटकर

इस युवक को लोग कहते हैं ‘मोगली’, अकेले जंगल में ही बिताता है लंबा समय

जंगल बुक फिल्म 2016 में रिलीज हुई थी.उस से पहले छोटे पर्दे पर भी जंगल बुक जैसे सीरियल आते थे.आप सभी ने एक गाना बहुत सुना होगा “जंगल जंगल बात चली है पता चला है कि….” ये गाना हर बचे की जुबा पर था क्युकी ये गाना बच्चो के पसंदीदा कैरेक्टर मोंगली का है.आपको बता मोंगलि वह इंसानी बचा है जो जंगल में पला बढ़ा हुआ और उसने अपनी जिंदगी के अहम पल जंगल में बिताए हो वो जानवरो का दोस्त बन गया उनके साथ खेलता मस्ती करता ओर अपनी जिंदगी एंजॉय करता था.मोगली को कई जानवरो ने अपनी पास रख कर बचाया था जब मोगली बड़ा हुआ तब उसने जंगल के हर जानवर को बचाने के लिए जीने लगा गया.वो जंगल का हर रास्ता जानता था ओर उसने जंगल के हर कोने ओर पेड़ पर चढ सकता था.उसे जंगल के बारे में सबकुछ पता था.

मोगली का कैरेक्टर पूरी दुनिया में पसंद किया गया.बच्चे ही नहीं बड़े भी इस से काफी प्रभावित हुए.लेकिन आप जानते है कि ये इमेजिन कैरेक्टर आप असली जिन्दगी में भी देख सकते है.चोक गए ना आप,जिहा आप उसे अपनी रीयल लाइफ में मिल सकते है.लेकिन इसके लिए आपको अफ्रीका महादीप के एक छोटे से देह रवांडा जाना होगा.अगर आप ये अफॉर्ड कर पाए तो आप आराम से देख पाएंगे उसे.यह असल में मोगली नहीं है

इसका असली नाम है एली.इसकी उम्र 21 साल है तथा एक गंभीर बीमारी से ग्रस्त है जिसे मिक्रोसेगफ्ली कहते है.डॉक्टर के अनुसार इस बीमारी में मनुष्य का सिर अन्य लोगो कि तुलना में काफी बड़ा हो जाता है एवं उसको सुनने में भी दिक्कत आ जाती है.एली के बारे उनकी मा ने बताया उसका जन्म 5 बच्चे के बाद हुआ लेकिन उनमें से एक भी जिंदा नहीं रह था.एली को बचपन से बीमारी थी और वो इस से जूझ था था.वो कभी स्कूल नहीं गया.यहां तक कि आसपास के बच्चे और बड़े उसका मजाक बनते थे.जिस से वो जंगल में ज्यादा टाइम बीतता था.वही उसने पेड़ पर चड़ना और पेड़ पोधी से बात करने लग गया.आपको बता दे एली ओर उसकी मां ने लिए लोगो ने कैंपेन करके मदद की थी जिससे 2 लाख से अधिक धनराशि प्राप्त हुई.एली ओर उसका मा अलग ही रहते है और दुनिया देश के अलग की खबरों से दूर ही रहते है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top