कुछ हटकर

मुस्लिम महिला रुबीना ने मौलानाओ के फतवे से नहीं डरकर नरोरा घाट जाकर किया गणेश विसर्जन ,देशभर में हो रही चर्चा

कुछ दिनों पहले अलीगढ़ की रूबी खान गणेश स्थापना को लेकर काफी ज्यादा सुर्खियों में थी और उनके खिलाफ मौलानाओं ने फ़तवे भी जारी किए थे. लेकिन अब ताजा खबरों के अनुसार आपको बता दें अलीगढ़ में गणेश प्रतिमा घर पर साबित करने के पश्चात मौलानाओं के फतवे के बाद निशाने पर आई भाजपा नेता रूबी आसिफ खान बुधवार के दिन गणेश प्रतिमा का विधि विधान से विसर्जन करने नरोरा गंगा घाट पहुंची और वहां जाकर गणेश प्रतिमा का दंपति ने गणेश विसर्जन किया.

Not afraid of the fatwas of Maulana, Ruby Asif Khan went to Narora Ghat and did Ganesh Visarjan

Not afraid of the fatwas of Maulana, Ruby Asif Khan went to Narora Ghat and did Ganesh Visarjan

रूबी आसिफ खान के साथ उनकी दो मुस्लिम महिला पड़ोसी भी मौजूद थी सुबह रूबी ने सबसे पहले भगवान गणेश की पूजा की और उसके बाद मूर्ति को सिर पर रखकर अपने मुस्लिम छेत्र से यात्रा निकाली इसके बाद प्रतिमा लेकर नरोरा के लिए रवाना हो गई.

अलीगढ़ की मुस्लिम महिला ने की गणेश पूजा तो पुरे परिवार के खिलाफ हुआ फतवा जारी ,इन लोगों ने दी जान से मारने की धमकी

Not afraid of the fatwas of Maulana, Ruby Asif Khan went to Narora Ghat and did Ganesh Visarjan

Not afraid of the fatwas of Maulana, Ruby Asif Khan went to Narora Ghat and did Ganesh Visarjan

वहां जाकर विधि विधान से विसर्जन की क्रिया संपन्न की. रूबी ने बताया आज भगवान श्री गणेश की प्रतिमा को 7 दिन बाद नरोरा घाट पहुंचकर विसर्जन किया गया गौर करने वाली बात यह है रूबी आसिफ खान ने भगवान श्री गणेश की मूर्ति 31 तारीख को घर में स्थापित की थी रूबी का कहना है तभी सेउनको मुस्लिम कट्टरपंथियों की ओर से बयानों के माध्यम से फतवे जारी होने लगे थे. कट्टरपंथियों ने तरह-तरह के बयान जारी कर कहा था यह हिंदू बन चुकी है.

Not afraid of the fatwas of Maulana, Ruby Asif Khan went to Narora Ghat and did Ganesh Visarjan

Not afraid of the fatwas of Maulana, Ruby Asif Khan went to Narora Ghat and did Ganesh Visarjan

यह मुस्लिम हो ही नहीं सकती. इसने अपने यहां मूर्ति रख ली इसको इस्लाम से खारिज करो इतना ही नहीं जान से भी मारने की धमकियां मिलने लगी.परिवार को जिंदा जलाकर मारने के लिए तक बोल दिया गया था.इस तरह की धमकियां आने लगी बाहर निकलती हूं उल्टे सीधे कमेंट किए जाते हैं. हिंदू जा रही है लेकिन मुझे फतवा और मुसलमानों से कोई डर नहीं.मैंने जिस तरीके से धूमधाम से गणेश प्रतिमा स्थापित की थी. उसी तरह धूमधाम से सुबह घर से विसर्जन करने के लिए निकली. बुलंदशहर के नरोरा गंगा घाट पर पहुंचकर विधि विधान से विसर्जन किया है.

To Top