कुछ हटकर

लाउडस्पीकर की चेकिंग करने पहुंचे थे SHO, मंदिर में बिना मां-बाप की बेटी की शादी देख किया ये काम, हो रही तारीफ

दोस्तों कहते है की भगवन किसी न किसी तरह हम लोगो की मदद करने के लिए आ ही जाते है,किसी का जरिया बनाकर हम तक मदद पहुंचा देते है.उसकी लीला अपरम्पार है,उसकी करनी वही जाने.आज हम आप को ऐसा ही कुछ बताने जा रहे है जिसमे एक गरीब तक कैसे मदद पहुँच गयी.इसी के साथ ये खबर सोशल मिडिया पर आयी और लोगों ने खूब सराहा और प्यार दिया.

देवरिया जिले के बरियारपुर थानाध्यक्ष ने गरीब बेटी की शादी में उपहार भेंट किया और वर-वधू को सुखी जीवन का आशीर्वाद दिया.थानाध्यक्ष आशुतोष सिंह ध्वनि प्रदूषण के संबंध में मिली गाइडलाइन के पालन के लिए क्षेत्र में पुलिस बल के साथ गश्त पर निकले थे.आशुतोष सिंह लाहिलपार देवी मंदिर में लाउडस्पीकर के संबंध में पुजारी से बात कर रहे थे तो पता चला मंदिर परिसर में बारात आई है.

चौरी चौरा निवासी ज्योति की शादी शहर के न्यू कॉलोनी निवासी अंकित मद्धेशिया से हो रही थी.गहराई से पता किया तो पता चला कि दुल्हन के माता-पिता नहीं हैं और मुफलिसी के कारण मामा-मामी विवाह कर रहे हैं.यह सुन उपनिरीक्षक आशुतोष सिंह का मन द्रवित हो गया.उन्होंने दोनों पक्षों से बात की और बाजार से मंगाकर इलेक्ट्रिक मिक्सर, पंखा और फ्रीज नव दंपति को भेंट किया.साथ ही सुखी जीवन का आशीर्वाद दिया.

आशुतोष यहीं नहीं रुके उन्होंने मंदिर में बारात घर का सामान्य खर्च भी पुजारी से माफ करने का निवेदन किया,जिसे पुजारी ने सहर्ष स्वीकार कर लिया.उसके बाद उन्होंने टेंट वाले से भी सहयोग करने की बात की तो वह भी खुशी-खुशी सहयोग के लिए राजी हो गया.क्षेत्र में उपनिरीक्षक के मानवीय प्रयास की क्षेत्रीय लोग खूब तारीफ कर रहे हैं.उपनिरीक्षक और थानाध्यक्ष आशुतोष सिंह इसके पहले भाटपाररानी, मेहरौना चौकी प्रभारी, सदर कोतवाली में पुलिस लाइन चौकी प्रभारी, बरहज कस्बा चौकी प्रभारी की जिम्मेदारी बखूबी निभा चुके हैं.जहां भी तैनाती मिली, स्थानीय लोगों से बेहतर संवाद स्थापित किया.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top