कुछ हटकर

बर्बाद होने के बाद दुनिया का वो देश जिसने जारी किया था 10 लाख रुपए का नोट ,25 लाख में बिकती थी एक कप कॉफी

दोस्तों आज हमारा पड़ोसी देश श्रीलंका अपनी आर्थिक तंगी को लेकर पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है.मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस देश में इस समय दूध के दाम इतने बढ़ चुके हैं कि लोग चाय की एक चुस्की को तरस रहे हैं.दूध ही नहीं बल्कि आम जरूरत की सभी चीजों की कीमतें भी आसमान छू रही हैं.श्रीलंका से पहले भी कई देशों पर आर्थिक तंगी की मार पड़ चुकी है. इन्हीं में से एक देश है वेनेजुएला.दक्षिणी अमेरिकी देश वेनेजुएला आर्थिक संकट के साथ साथ कमर तोड़ महंगाई से जूझ रहा है.आसमान छू रही महंगाई के कारण ही इस देश को पिछले साल मार्च में 10 लाख बोलिवर का नया नोट छापना पड़ा था.अब इस देश की महंगाई में थोड़ी गिरावट देखी जा रही है लेकिन इसकी स्थिति अभी पूरी तरह नहीं सुधरी है.

इस समय 4.42 सॉवरेन बोलिवर की एक्सचेंज वैल्यू एक अमेरिकी डॉलर के बराबर है. वेनेजुएला ने एक अक्टूबर 2021 को अपनी करेंसी से छह जीरो हटा कर एक लाख बोलिवर को बदल कर एक सॉवरेन बोलिवर कर दिया गया था. इसके साथ ही बेलगाम महंगाई से निपटने के लिए इस देश ने 100 सॉवरेन बोलिवर को देश का सबसे बड़ा नोट बना दिया था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 500 किलोग्राम बोनलेस चिकन इस समय वेनेजुएला में 2.94 डॉलर का बिक रहा है. वहीं 12 अंडों की कीमत 2.93 डॉलर हो चुकी है. बता दें कि भारत में 12 अंडों की कीमत 1.08 डॉलर है.इस देश में एक किलोग्राम टमाटर की कीमत 1.40 डॉलर है. जबकि 2019 में इसके दाम आसमान छू रहे थे. तब 10 लाख बोलिवर में एक टमाटर मिल रहा था. वेनेजुएला में अभी एक लीटर दूध की कीमत 1.71 डॉलर है.

आज से करीब दो साल पहले तक वेनेजुएला में एक किलोग्राम चिकन की कीमत लाखों बोलिवर थी. अक्टूबर, 2020 में देश में एक लाख बोलिवर के नोट की कीमत घटकर 0.23 डॉलर पर आ गई थी. उन दिनों इस देश में एक लाख बोलिवर देने पर केवल दो किलो आलू मिलते थे.कुछ साल पहले तक यहां एक कॉफी की कीमत 25 लाख बोलिवर थी. 2019 में वेनेजुएला में महंगाई दर 2,400 फीसदी पर पहुंच गई थी. अक्टूबर 2021 में यहां की सरकार ने एक लाख बोलिवर का नोट छापा था.

To Top