Breaking News
Home / खास / ढाई साल बाद पाकिस्तान से वापस वतन पहुंची देश की बेटी ,ससुराल वालों ने किया भव्य स्वागत

ढाई साल बाद पाकिस्तान से वापस वतन पहुंची देश की बेटी ,ससुराल वालों ने किया भव्य स्वागत

दोस्तों कई बार देखा जाता है कि 2 देशों की लड़ाई में आम इंसान की भावनाओं का सौदा हो जाता है वह चाह कर भी अपनी भावनाओं के अनुसार काम नहीं कर सकते ऐसे मे आज हम आपको 2 देशों के बिगड़े रिश्तो के बीच एक ऐसी दुल्हन की कहानी बताने जा रही हैं जो कि अपने ससुराल नहीं आ सकी. यह किस्सा है पाकिस्तान में फंसी एक दुल्हन का जो हिंदुस्तान ना आ सकी और अब काफी समय बाद उसे अपनी ससुराल में आने का मौका.


यह मामला उस समय का है जब बालाकोट में स्ट्राइक हुई थी, और दोनों देशों के बीच रिश्ते बिगड़ गए थे जिसका नतीजा यह हुआ था कि थार एक्सप्रेस बंद हो गई थी और जो लोग वहां गए हुए थे वह वहीं रह गए थे, राजस्थान के जैसलमेर के रहने वाले विक्रम सिंह की शादी पाकिस्तान के अमरकोट में हुई थी, लेकिन यह दुल्हन कभी अपनी ससुराल यानी हिंदुस्तान नहीं आ पाई, काफी कोशिशों के बाद अब जाकर ढाई साल बाद विक्रम की पत्नी जब जैसलमेर पहुंची,


तो यहां विक्रम के परिवार वालों का ठीक खुशी का ठिकाना ना रहा उन्होंने विक्रम और उसकी पत्नी का भव्य स्वागत किया, दोस्तों जैसलमेर और अमरकोट का रिश्ता पुराना हैँ, यहां कई बेटों की शादी वहां हुई तो कई बेटियों की शादी कहां हुई है. विक्रम सिंह की शादी जनवरी 2019 में हुई थी, अभी से विक्रम और उसका परिवार अपनी बहू को लाने के कई प्रयास कर चुके थे अब जाकर उन्हें सफलता हासिल हुई, ने बताया कि शादी के बाद से सभी घरवाले और वह अपनी पत्नी के इंतजार में थे और आज वह पल आ ही गया जिससे हम सभी बहुत खुश हैं. विक्रम सिंह ने आपबीती बताते हुए कहा कि वह अपनी बारात अमरकोट 2019 में लेकर गए थे,


3 महीने तक पत्नी को लाने का प्रयास किया परंतु वह सफल नहीं हुए और वापस जैसलमेर आ गए इसके बाद से उन्होंने लगातार कोशिशें जारी रखी, हमने कई बार सरकार से भी गुहार लगाई पर कोई फायदा नहीं हुआ विक्रम ने बताया केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने उम्मीद जगाई इसी बीच 2021 में एक मेरे पुत्र का जन्म हो जाता है जो अपने नाना नानी के साथ यहां पर आ गया लेकिन मेरी पत्नी का पासपोर्ट ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया,


बीजेपी के जिला महामंत्री स्वरूप सिंह खसरा में बताया कि विक्रम सिंह की पत्नी को हिंदुस्तान लाने के लिए हमें कड़ा संघर्ष करना, हमारे सांसद कैलाश चौधरी की मेहनत रंग लाई और विक्रम जी की पत्नी हिंदुस्तान आने में सफल रही, बंद हो जाने से आज भी कई लोग हिंदुस्तान और पाकिस्तान के बीच फंसे हुए हैं, ऐसे में सरकार को इनकी मदद करना चाहिए

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *