खास

बिना छुट्टी लिए 7 महीने से लंदन घूम रही हैं आईपीएस अलंकृता सिंह,CM योगी ने की छु्ट्टी

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लापरवाही करने वाले अधिकारियों के खिलाफ एक्शन में है.इसी कड़ी में बुधवार 27 अप्रैल, 2022 को आईपीएस अधिकारी अलंकृता सिंह पर योगी सरकार की गाज गिरी है.प्रशासन का कहना है कि ड्यूटी के प्रति लापरवाही बरतने के लिए उन्हें सस्पेंड किया गया है.अलंकृता सिंह 2008 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं.प्रशासन ने बताया कि अलंकृता ऑफिशियल लीव के बिना ही छुट्टी पर थीं.राज्य सरकार द्वारा जारी पत्र के मुताबिक,अलंकृता सिंह ड्यूटी के दौरान अनुपस्थित थीं,

और शासन की स्वीकृति के बिना ही विदेश चली गईं.उनकी इस लापरवाही को देखते हुए प्रशासन ने अखिल भारतीय सेवाएं नियमावली-1969 के नियम 3 के तहत दिए गए अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए उन्हें निलंबित कर दिया है.अलंकृता महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन (1090) के पद पर तैनात थीं.योगी सरकार में यह दूसरा मामला है जब किसी आईपीएस अधिकारी के निलंबन का कार्रवाई हुई है.इससे पहले गाजियाबाद के एसएसपी पवन कुमार को निलंबित किया गया था.

राज्य सरकार का मानना था कि वे अपराध नियंत्रण में नाकाम रहे हैं.इसके बाद 31 मार्च को उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था.उत्तर प्रदेश के दोबारा सीएम बनते ही योगी आदित्यनाथ लापरवाह अफसरों पर लगातार कार्रवाई कर रहे हैं.31 मार्च को योगी ने खनन, निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार और विधानसभा चुनाव के दौरान लापरवाही के आरोपों में सोनभद्र के DM टीके शिबू को निलंबित कर दिया था.साथ ही, आरोपों की जांच वाराणसी मंडल के आयुक्त को सौंपी थी.वहीं, इसी दिन एसएसपी गाजियाबाद को कर्तव्य में लापरवाही और अपराध को नियंत्रित करने में विफल होने के लिए निलंबित कर दिया गया था.

2009 बैच के आईपीएस अधिकारी पवन कुमार 16 अगस्त 2021 से गाजियाबाद में तैनात थे. कुछ दिनों से गाजियाबाद में अपराध की घटनाओं में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. क्राइम कंट्रोल करने में गाजियाबाद एसएसपी पूरी तरह से विफल दिखाई दे रहे थे.इसके बाद, अब 4 अप्रैल को काम में लापरवाही और भ्रष्टाचार से जुड़ी शिकायतों पर औरैया के डीएम सुनील वर्मा को योगी सरकार ने सस्पेंड कर दिया है.साथ ही सुनील वर्मा के खिलाफ विजिलेंस जांच के भी आदेश दिए गए हैं.साल 2013 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी सुनील वर्मा,रायबरेली के रहने वाले हैं. सुनील वर्मा एटा और आगरा में जॉइंट मजिस्ट्रेट रह चुके हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top