खबर

VIDEO: ‘सर, प्रणाम…’ ट्यूशन से जो कमाते हैं, पिताजी शराब पी जाते हैं…पढ़ाई में मदद कीजिए सरकार!

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को अपनी पत्नी की 16वीं पुण्यतिथि के मौके पर कल्याणबीघा गांव में पहुंचे.इस दौरान सीएम नीतीश ने स्व धर्मपत्नी मंजू कुमारी सिन्हा की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी.इसके बाद पुश्तैनी गांव के मंदिर में पूजा अर्चना की.इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने जनसंवाद कार्यक्रम में लोगों की समस्याओं को भी सुना.जब सीएम नीतीश कुमार लोगों को समस्याओं को सुन रहे थे,

तभी हरनौत प्रखण्ड के नीमाकौल के छठी क्लास के एक छात्र सोनू कुमार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने बिहार में शराबबंदी और अच्छी शिक्षा के दावों की पोल खोलकर रख दी.बच्चे को देखकर नीतीश कुमार पहले मुस्कुराए, फिर जब उसकी शिकायतें सुनी तो हैरान रह गए. छठी कक्षा के छात्र ने नीतीश कुमार के सामने हाथ जोड़कर कहा- ‘सर सुनिए ना… सरकारी स्कूल की जगह हमारा नामांकन प्राइवेट स्कूल में करा दीजिए.स्कूल के टीचर के इंग्लिश पढ़ने में भी घबराहट होती है.हमारे पिताजी शराब पीते हैं.बच्चे की बात सुन मुख्यमंत्री ने तुरंत अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए.

बच्चे का आरोप है कि उसका पिता रणविजय यादव दही बेचने का काम करता है.दही बेचने से जो आमदनी होती है, उस रुपये से उसके पिता शराब पी जाते हैं.बिहार में शराब बंदी है.इसके बाद भी लोग शराब पी रहे हैं.छात्र सोनू की बात से इसकी एक बार फिर पुष्टि होती है.छात्र सोनू कुमार ने आरोप लगाते हुए बताया कि गरीब परिवार से होने के कारण मध्य विद्यालय नीमा कौल के सरकारी स्कूल में पढ़ता है.जहां मास्टर साहब को भी अच्छी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना नहीं आता है.

सोनू के पिता की दही की दुकान है लेकिन कमाई का सारा पैसा वो शराब पीने में उड़ा देते हैं. सोनू पढ़ लिख कर IAS, PCS बनना चाहता है लेकिन गरीब होने और बदहाल शिक्षा व्यवस्था के कारण सपनों को पंख नहीं लग पा रहे हैं. सोनू की काबिलियत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वह क्लास 6 में पढ़कर 5वीं क्लास तक के 40 बच्चों को शिक्षा देकर अपनी पढ़ाई का खर्च निकालता है.सीएम नीतीश कुमार हमेशा बिहार की शराबबंदी और शिक्षा व्यवस्था का गुणगान करते रहते हैं, लेकिन जिस तरह से उनके सामने ही सोनू कुमार ने सच्चाई बताई, वो कहीं ना इस पूरे अभियान की पोल खोल देने के लिए काफी है.

To Top