Religion

पूजा, पाठ की इन चीज़ो को नाह रखे ज़मीन पर वरना होगा नुकसान.

दोस्तों आज हम बात करंगे पूजा की सामग्री के विषय मे की कौनसे स्थान पर नहीं रखनी चाहिए पूजा से सम्बन्धी चीज़े.हर एक वयक्ति अपने घर मे पूजा करते है और सामग्री भी रखते है. लेकिन ज़्यादातर लोगो को ये नहीं होता की पूजा की सामग्री कौनसे स्थान मे रखनी नहीं चाहिए इसका गियान नहीं होता.

 

आज हम आपको वास्तु शास्त्र के हिसाब से बताएंगे पूजा की सामग्री को ऐसे स्थान रखना चाहिए जिससे हमें शुभ लाभ मिलसके. वास्तु शास्त्र के हिसाब से हमको पूजा की सामग्री ज़मीन पर नहीं रखनी चाहिए क्यू की अगर हम ज़मीन पर पूजा की सामग्री रखते है तो उस्का अपमान होता है और अशुभ होता है । इसलिए वास्तु शास्त्र के नियमो के हिसाब से हमें पूजा की सामग्री को ऊँचे स्थान पर रखना चाहिए ज़मीन पर नहीं पूजा की सामग्री के लिए छोटी चौखी या किसी ऊँचे स्थान की वयावस्था करनी चाहिए.ऐसा करने से हमें शुभ लाभ मिलता है.आज हम बताएंगे वास्तु शास्त्र के नियम के पूजा की सामग्री को कहा और कैसे वैवास्तिथ करें.

शाली ग्राम या शिवलिंग..

आप सभी जानते है शालीग्राम भगवान विश्रु का और शिवलिंग भगवान शिव का प्रतीक माना जाता है इसलिए इनको कभी भी ज़मीन पर नहीं रखना चाहिए और साफ सफाई के दौरान इनको एक सुवछ कपड़े मे करकर पवित्र स्थान मे रखे.

रतन, शास्त्रों,मोटी, हीरा और सोना इन सभी धातुओ को कभी भी सीधे ज़मीन पर नहीं रखनी चाहिए.क्योंकि ऐसी मान्यता है हर धातु का सम्भन्ध किसी नाह किसी गिरहे से होता है इसलिए हमें किसी भी बहुमूल्य धातु से बनि वास्तु को कभी ज़मीन पर नहीं रखना चाहिए.वरना अशुभ होता है.
सीप…

आपको बतादे सीप की उत्पत्ति समंदर से हुई थी.इसलिए इसको लक्ष्मी जी का प्रतीक माना गया है.इस कारण इसको ज़मीन पर भूलकर भी ज़मीन पर नहीं रखना चाहिए.माता लक्ष्मी की पूजा मे सीप और कौड़ी को विशेष महत्व होता है इसलिए सीधा ज़मीन पर रखना अशुभ .

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top