News

अग्निपथ योजना को लेकर रवीना टंडन ने किया ट्वीट, तो RLD चीफ जयंत चौधरी ने लिए मजे, देखिए

भारतीय सेना में भर्ती के लिए लाई गई नई योजना अग्निपथ स्कीम पर युवाओं के आक्रोश के बाद राजनीति गरमा गई है। अग्निपथ योजना के खिलाफ उपजे युवाओं के आक्रोश को आधार बनाकर राजनीतिक दलों की ओर से भी केंद्र सरकार पर दबाव बनाया जा रहा है। इस भर्ती स्कीम को वापस लेने की मांग की जा रही है। पुरानी भर्ती योजना के तहत नियोजन प्रक्रिया शुरू करने की मांग की जा रही है। वहीं, भारतीय सेना और सरकार इस भर्ती योजना की खूबियां गिना रही है।

सरकार के स्तर पर अग्निपथ योजना के तहत चयनित युवाओं को बेहतर भविष्य के सपने दिखाए जा रहे हैं। इन सबके बीच युवा सड़कों पर हैं और इस पर अब फिल्मी जगत भी कूद पड़ा है। ताजा मामला रवीना टंडन के ट्वीट का है। उन्होंने युवाओं के प्रदर्शन को लेकर ट्वीट के जरिए चिंता जाहिर की है। इस पर राष्ट्रीय लोक दल के नेता जयंत चौधरी ने अपनी प्रतिक्रिया भी दी है।

अग्निपथ योजना के खिलाफ राष्ट्रीय लोक दल की ओर से लगातार विरोध का स्वर बुलंद किया जा रहा है। रालोद नेता छात्र-युवाओं के विरोध प्रदर्शन की आवाज बनने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं, कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल अब युवाओं के आंदोलन को अपना बनाने की होड़ में कूद पड़े हैं। ऐसे में फिल्म अभिनेत्री की ओर से सवाल उठाए जाने पर रालोद अध्यक्ष के जवाब को इस मुद्दे में अपनी बढ़त हासिल करने की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है।

अग्निपथ स्कीम के बारे में सरकार की ओर से आरक्षण के नियम की घोषणा हुई है। इसके अलावा भारतीय वायु सेना की ओर से अग्निपथ योजना में नियुक्त होने वाले सैनिकों के लिए विस्तार से मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी दी गई है। वहीं, विपक्षी दल लगातार इस योजना के विरोध में खड़े दिख रहे हैं।दरअसल रवीना ने अपने Twitter अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें अग्निपथ स्कीम’ के खिलाफ कुछ लोग प्रदर्शन करते नजर आ रहे थे लेकिन उनकी उम्र कुछ ज्यादा नजर आ रही थी। जिन पर तंज कसते हुए रवीना ने लिखा-‘विरोध कर रहे 23 वर्षीय अभ्यर्थी’। जिस पर राष्ट्रीय लोकदल के चीफ जंयत चौधरी ने लिखा कि ‘आप मस्त रहो, क्यों टेंशन लेती हो!’ अग्निपथ_भर्ती_योजना_रद्द_करो?। इसके बाद से ही रवीना टंडन और जंयत चौधरी सोशल मीडिया पर आकर्षण का केंद्र बन गए हैं। दोनों के ट्वीट पर कुछ यूजर्स ने मजे लिए हैं तो कुछ ने कड़ी आपत्ति भी जताई है।

To Top