Breaking News
Home / खबर / तो इस वजह से चलती गाड़ी के पीछे भोंकते है और पीछा करते है कुत्ते ,अब हुआ खुलासा

तो इस वजह से चलती गाड़ी के पीछे भोंकते है और पीछा करते है कुत्ते ,अब हुआ खुलासा

दोस्तों आपने अक्सर देखा होगा कि कुत्ते गाड़ी के पीछे भागते हैं और हर किसी के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर कुत्ते गाड़ी के पीछे क्यों भागते हैं? कुत्ते को इंसान का सबसे अच्छा दोस्त माना जाता है और हर बुरे समय में मुश्किल में कुत्ता इंसान की रखवाली करता है फिर आखिर क्या ऐसा कारण है जो वह गाड़ियों के पीछे भागता है और गाड़ियों के पीछे ही क्यों आपने कई बार देखा होगा कि कुत्ता बाइकों के पीछे भी भागता है, और कई बार आप डर कर या तो पैरों ऊपर कर लेते हैं या फिर गाड़ी की रफ्तार बढ़ा देते हैं, कई लोगों ने इसका उत्तर जानना चाहा पर अभी तक कई लोग इस बात से अनजान हैं कि आखिर क्यों कुत्ते गाड़ियों के पीछे भागते हैं,

तो चलिए दोस्तों हम आपको बताते हैं कि आखिर क्यों कुत्ते गाड़ी के पीछे भागते हैं इसके पीछे कई कारण हैं जो आज हम आपसे साझा कर रहे हैं,
हमेशा गाड़ी के पीछा भागने का मतलब शिकार की प्रवृत्ति से कोई लेना-देना नहीं होता है, ज्यादातर इंसानों द्वारा जानवरो की अनदेखी की जाती है लेकिन कुत्तों द्वारा नहीं, कुत्तों के परिजनों और पैरेंट्स की आंखों में ‘हादसा’ करने वाली गाड़ी की तस्वीर बस जाती है। जब भी कुत्ते उस रंग की या कोई भी कार को देखते हैं तो बदला लेने की नीयत से गाड़ी पर हमला कर देते हैं।

दोस्तों कुत्ता कितना भी दोस्ताना और घरेलू जानवर हो लेकिन उसकी शिकार करने की प्रवृत्ति जैसे कि भेड़िए और जी दोनों में पाई जाती है वही प्रवती कुत्ते में भी पाई जाती है ऐसे में वह शिकार करना भी नहीं आता और अपने व्यवहार के चलते गाड़ियों के पीछे भागता है,इस हिंसक आक्रामक व्यवहार को चयनात्मक प्रजनन द्वारा बाधित किया जाता है, जिसके कारण कुछ नस्लों में चरित्र दब जाता है और कुछ जैसे हाउंड और रिट्रीवर में वे बढ़ जाते हैं।


कभी-कभी कुत्तों में यह प्रवृत्ति मनोरंजन के हिसाब से भी पाई जाती है आपने देखा होगा कई बार कुत्ता बिल्ली, खरगोश और गिलहरी के पीछे भी भागते हैं लेकिन यह उन्हें मारते नहीं है इनका केवल मनोरंजन का मकसद होता है. कुत्ता बोलना हूं इसलिए खुद की बोरियत को दूर करने के लिए उछल कूद भागदौड़ करता है.

कुत्तों में सूंघने की गहरी समझ होती है और वे घुसपैठिए को तुरंत पहचान लेते हैं। यही कारण है क‍ि जब कोई ऐसी गाड़ी उस इलाके में दाखिल होती है, जिससे दूसरे कुत्ते के टॉयलेट की गंध आती है तो वह भौंकने लगता है। इलाके में दूसरे कुत्ते के घुसपैठ ना हो, इसलिए वह गाड़ी के पीछे भागने लगते हैं और उस गाड़ी को दूर भगाने पर तुल जाते हैं.

कुत्ते अक्‍सर गाड़‍ियों के टायर पर टॉयलेट कर देते हैं। इसके पीछे कामकसत भी यही है कि वह इससे अपने इलाके तय करते हैं और टॉयलेट के गंध से यह घोष‍ित करते हैं कि यह उनके इलाके का है। यानी दूसरे इलाके वालों के लिए चेतावनीका होना होता है ।

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *