Breaking News
Home / कुछ हटकर / मैच से पहले घुटने पर क्यों बैठे भारत के खिलाड़ी? इस कारण अब हर कोई कर रहा तारीफ

मैच से पहले घुटने पर क्यों बैठे भारत के खिलाड़ी? इस कारण अब हर कोई कर रहा तारीफ

इंडिया और पाकिस्तान के बीच में विश्व कप 2021 का पहला मैच खेला जा रहा है.हर किसी के लिए भारत-पाकिस्तान का मैच हर किसी के लिए दिलचस्प होता है.हालांकि दुबई में खेले गये भारत और पाकिस्तान के बीच मैच की शुरुआत में भारतीय खिलाड़ी एक घुटने के सहारे जमीन पर एक घुटने के सहहरे बैठे हुए दिखाई दिए

दरअसल ये एक मूवमेंट हैं जिसे भारतीय टीम ने भी सपोर्ट किया है.मैच की शुरुआत से पहले टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने घुटने पर आकर ब्लैक लाइफ मैटर मूवमेंट का सपोर्ट किया.ओपनिंग करने के लिए मैदान पर पहुंचे रोहित शर्मा और केएल राहुल ने क्रीज़ पर पहुंचकर एक घुटने पर बैठकर इस मूवमेंट का सपोर्ट किया,हालांकि पाकिस्तान की टीम घुटने पर तो नही बैठी लेकिन दिल पर हाथ रखकर इस मूवमेंट का समर्थन किया.पिछले साल अमेरिका से शुरू हुए ब्लैक लाइफ मैटर मूवमेंट का लगातार दुनिया ने समर्थन किया है.

इस मूवमेंट के साथ अब सभी तरह के भेदभाव को दूर करने की कोशिश की जा रही है.टी-20 वर्ल्डकप में भी लगातार सभी टीमें ऐसा ही कर रही हैं और मैच की शुरुआत से पहले इस तरह घुटने पर बैठकर मूवमेंट का सपोर्ट कर रही हैं.

दोस्तों हम आप को बताते है क्या है ब्लैक लाइफ मैटर मूवमेंट

अमेरिका में पिछले साल हुए ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ आंदोलन को दुनिया के ज्यादातर देशों में समर्थन मिला था.इस आंदोलन की शुरुआत 25 मई 2020 को हुई थी.अमेरिकी पुलिस के एक अफसर ने मिनेपोलिस में एक अश्वेत नागरिक की गर्दन तब तक दबाए रखी थी,जब तक उसकी मौत नहीं हो गई.इसी के विरोध में यह आंदोलन शुरू हुआ था.ब्रिटेन में इस आंदोलन की कमान संभालने वाली अश्वेत साशा जॉनसन पर रविवार देर रात हमला हुआ.उनके सिर में गोली लगी है.साशा की हालत गंभीर है और लंदन के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है.

आधी रात को हमला-
लंदन पुलिस के मुताबिक, साशा पर उनके घर में हमला किया गया.हमलावर बाहरी थे या घर के अंदर ही उन्हें निशाना बनाया गया? यह अब तक साफ नहीं हो सका है.यह हमला रविवार और सोमवार की दरमियानी रात करीब 3 बजे किया गया.उन्हें फौरन हॉस्पिटल ले जाया गया,यहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है.साशा ने कुछ वक्त पहले ‘टेकिंग द इनिशिएटिव पार्टी’ यानी TTIP भी बनाई थी.उनकी पार्टी का आरोप है कि साशा को कुछ दिनों से लगातार जान से मारने की धमकी दी जा रही थी.दूसरी तरफ, पुलिस ने इस आरोप को खारिज करते हुए कहा कि धमकियों से जुड़े कोई सबूत या शिकायत उन्हें नहीं मिले.

पार्टी के दौरान हमला?
पुलिस का कहना है कि 27 साल की साशा पर हमला एक पार्टी के दौरान हुआ.यह पार्टी साशा के घर में ही हो रही थी.हालांकि, साशा के सहयोगी पुलिस के इस बयान पर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं.अब लंदन पुलिस इस पार्टी में मौजूद हर व्यक्ति से पूछताछ कर रही है. पुलिस का कहना है कि पार्टी के दौरान हमला होना आपसी बहस या रंजिश का नतीजा भी हो सकता है.पुलिस ने इस मामले में लोगों से सबूत मुहैया कराने की अपील भी की है.साशा लंबे वक्त से लंदन में रह रही हैं.उनके तीन बच्चे हैं.मंगलवार को ब्लैक लाइव्स मैटर आंदोलन का एक साल पूरा हो रहा है.इसी दिन मिनेपोलिस में जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या हुई थी.साशा इस मौके पर एक रैली करने वाली थीं.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *