Breaking News
Home / राजनीतिक / आरोपों के बीच अब समीर वानखेड़े ने तोड़ी चुप्पी बोले मेरी मां मुस्लिम थी तो क्या अब उन्हें भी मामले में घसीटना चाहते हैं

आरोपों के बीच अब समीर वानखेड़े ने तोड़ी चुप्पी बोले मेरी मां मुस्लिम थी तो क्या अब उन्हें भी मामले में घसीटना चाहते हैं

एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े काफी सुर्खियों में छाए हुए हैं और अब उनके प्रमाण पत्र को लेकर भी नवाब मलिक ने ट्वीट कर दिया है. इस सब को लेकर काफी ज्यादा खबरों का बाजार गर्म है.समीर वानखेडे को लेकर अब और तरह की भी खबरें सामने आने लगी कि समीर वानखेड़े की मां मुस्लिम थी उनका प्रमाण पत्र का भी चर्चा का विषय बना हुआ है.आर्यन केस में समीर वानखेड़े काफी ज्यादा सुर्खियों में हैं. अब समीर वानखेड़े ने ड्रग्स मामले के  चलते हुए अधिकारी समीर वानखेड़े को कानूनी सुरक्षा चाहिए. उन्होंने मुंबई पुलिस को don’t arrest me का खत भी लिखा है. उन्हें फंसाया जाने का डर जाहिर करते हुए कानूनी कार्रवाई से सुरक्षा मांगी है.

इसके साथ ही नवाब मलिक ने समीर वानखेडे का जन्म प्रमाण पत्र को लेकर भी ट्वीट कर डाला. खबरों के मुताबिक समीर वानखेड़े ने कहा कि मुझे अपना जन्म प्रमाण पत्र को लेकर नवाब मलिक के एक ताजा ट्वीट के बारे में खबर चली है. यह उन सभी चीजों को लाने का एक घटिया प्रयास है जो इस सब से संबंधित है.

मेरी मां मुस्लिम थी तो क्या वह मेरी मृत मां को इस सब में लाना चाहते हैं. मेरी जाति और पृष्ठभूमि को सत्यापित करने के लिए वह आप या कोई भी मेरे मूल स्थान पर जा सकता है.  और मेरे परदादा से मेरे वंश का सत्यापन कर सकता है परंतु उसे यह गंदगी इस तरह नहीं चलानी चाहिए. मैं यह सब कानूनी रूप से लड़ूंगा अदालत के बाहर इस पर ज्यादा टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं.

आपको बता दें आर्यन खान के ड्रग्स केस में जांच कर रहे हैं मुंबई एनसीभी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को खुद को फंसाया जाने गिरफ्तारी का डर भी सताने लग गया है. अब उन्होंने रविवार को मुंबई पुलिस  प्रमुख को एक चिट्ठी लिखी जिसमें खुद को फ़साए जाने के खिलाफ कानूनी कार्रवाई से सुरक्षा मांगी है. वानखेड़े ने मुंबई पुलिस प्रमुख को पत्र लिखकर कहा उनके खिलाफ सम्मानित हस्तियों द्वारा जेल और बर्खास्तगी की धमकियां दी जा रही हैं. अज्ञात व्यक्तियों ने झूठे मामले में फंसाने की योजना बना रहे हैं.

उनकी स्थिति को महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक की हालिया टिप्पणीके संदर्भ में देखा जा रहा है. जिसमें उन्होंने कहा था कि वानखेड़े 1 साल के भीतर अपनी नौकरी खो देगा. हमारे पास उसके फर्जी मामलों के सबूत हैं.इस केस की जांच में लगे जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर आरोप अब खुद एनसीबी के एक गवाह प्रभाकर सईल ने लगाया है. प्रभाकर का कहना है कि उसने एक और गवाह  किरण गोस्वामी को ₹18 करोड़ की डील की बात करते सुना यह भी सुना कि इसमें से 8 करोड रुपए वानखेड़े को दिए जाने हैं. एनसीपबी ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *